jab yaad tumhari aati hai main dar par tere aata hu

जब याद तुम्हारी आती है मैं तेरे दर पर आता हूँ,
अपने सुख दुःख हे ठाकुर मैं रो रो तुम्हे सुनाता हूँ,
जब याद तुम्हारी आती है ………………….

फूलो में तुम्हारी खुशबु हे ,पत्तो में तुम्हारी हस्ती हैं,
पर फूल नहीं हैं पास मेरे,दो नयन चढ़ाने आया हूँ,
जब याद तुम्हारी आती है ………………….

तुम मेरे हो मैं तेरा हूँ , बस और नहीं कुछ याद मुझे,
ये ध्यान सदा मेरे दिल में रहे , ये विनय सुनाने आया हूँ,
जब याद तुम्हारी आती है …………………

तुम मेरे प्यारे सांवरिया ,मेरा तुम संग प्यारा नाता हैं,
नहीं और कोई मेरी सुनता हे, में तुम्हे सुनाने आया हूँ,
जब याद तुम्हारी आती है ……………

Leave a Reply