jai bhole baba kelasho ke raja

जय भोले बाबा कैलाशो के राजा
डमरू बाजा के नाचे जा

दूनिया है जलिम जेने न देति
अघोरी अघोरी है खेती

अशको की बूंधो मैं
तसवीर जंजीरो की

गैरीबो के जाखमो पे
लेकिरो की ख़ामोशी

सहिदो के घर मैं
बूढी माँ हो रोटी क्यो

सहमी हर और लाडकी
डार में होति कियो

जागा जनता है
फेर कैसी ये बेहोशी क्यो

पइसा कामना है और
गिरवी है मन की चीज

यारा मेन तेरा भोले
मुजको लॉग दोशी बोले

काश ये जहाँइले मेरे
सर चढ ते होल होल

काल बडले बडले
बिल्ला ना महाकाल
विपदा को थाल थाल
खुद भोले कोई जाल

सब हो गइ पगले पगले
कोइ पुछे ना हाल

ये दुइया को फेर से रींगल
कर डोले कर डोले

शिव कैलाशो के वाशी
गोरी धरो के राजा

राजा राजा तू महाराजा
राजा राजा तू महाराजा

भोले बाबा मुख्य तेरी कर्ता हू
कर्ता हू दिल से भक्ति
हमसे भक्ति को पैलो तुम
भोले बाबा इटनी भी सस्ति

जय भोले बाबा कैलाशो के राजा
डमरू बाजा के नाचे जा

Leave a Reply