jis rang me rangoge main rang jaaugi tum ko apna main mohan banaau gi

तुमको अपना मैं मोहन बनाऊ गी,
जिस रंग में रंगो गे मैं रंग जाऊगी,

मेरा मोहन है तू तेरी मीरा हु मैं,
तुम को पा कर के बनगी हीरा हु मैं,
तेरे कारण ही नाचू गी गाऊ गी,
जिस रंग में रंगो गे मैं रंग जाऊगी,

तेरे द्वारे पे बैठी रहु उम्र भर,
तुम कहो तो उठु तुम कहो तो चलू,
तुम देखो तो मैं विक जाऊगी,
जिस रंग में रंगो गे मैं रंग जाऊगी,

मेरे सिर पे तुम्हारा सदा हाथ हो,
हर जन्म जन्म ही तेरा साथ हो,
तेरे आंचल में मैं छुप जाऊगी,
जिस रंग में रंगो गे मैं रंग जाऊगी,

Leave a Reply