kawad utha ne ko shiv ke dwar chal haridwar

कावड़ उठा ने को शिव के द्वार चल हरिद्वार भोले चल हरिद्वार,

शिव के दीवानो का रेला चला गंगा के तट पे है मेला लगा,
कावड़ियों की हरिद्वार में आई है बहार,चल हरिद्वार भोले चल हरिद्वार,

भोले ही भोले दिखे चार और चारो तरफ बम भोले का शोर,
कर देंगे शम्भू तेरा बेडा पार,चल हरिद्वार भोले चल हरिद्वार,

सावन महीना है शिव को मना गंगा जल बरसन दे कावड़ उठा,
शर्मा तू अर्जी लगा एक बार चल हरिद्वार भोले चल हरिद्वार,

Leave a Reply