khatu jana to batana mujhe bhi chalna hai

खाटू जाना तो बताना मुझे भी चलना है
मेरे मालिक मेरे दाता से मुझको मिलना है,
खाटू जाना तो बताना मुझे भी चलना है

काम धंधे घर गरास्थि में फस गया हु मैं,
मोह माया के दलदल में धस गया हु मैं,
जिंदगी कैसा भी जमेलो से निकलना है,
खाटू जाना तो बताना मुझे भी चलना है

आना जाना मेरा खाटू में जब से छूटा है,
मेरा जीवन है निरर्थक जो बाबा रूठा है,
थक चूका हु मैं लड़ खड़ा के अब संबलना है,
खाटू जाना तो बताना मुझे भी चलना है

देश दुनिया में घूम आया मगर सकूं न मिला,
श्याम प्रेमियों सा मोहित कही जनून न मिला,
खाटू जाके मुझे फिर गलियों में टहलना है,
खाटू जाना तो बताना मुझे भी चलना है

Leave a Reply