khatu vale mujhe bhula le apne khatu dham shyam main haar liya

खाटू वाले मुझे भुला ले अपने खाटू धाम श्याम मैं हार लिया,
हार लिया मैं हार लिया श्याम धनि मैं हार लिए,
खाटू वाले मुझे भुलाले अपने खाटू धाम श्याम मैं हार लिया,

जब भी चाहा मने कमाना हुई सदा ही हानि से,
कैसे चले गाडी मेरी तेरे से न नाचने से,
तू तो जाने सुरु में ताने हो गया मैं बदनाम,श्याम मैं हार लिया
खाटू वाले मुझे भुलाले अपने खाटू धाम श्याम मैं हार लिया,

हानि लाभ को जीवन में समजू मैं तकदीर मेरी,
दिल से नहीं हटाउ का कभी श्याम तस्वीर तेरी,
चाहे रुला तू चाहे हँसा तू जपु गा तेरा नाम श्याम मैं हार लिया,
खाटू वाले मुझे भुलाले अपने खाटू धाम श्याम मैं हार लिया,

यो जीना के जीना से कोई भी मेरे साथ नहीं,
दुनिया से कैसे कह दू सिर पे तेरा हाथ नहीं
टूटे न विशवाश किसी का सोचु सुबह शाम श्याम मैं हार लिया,
खाटू वाले मुझे भुलाले अपने खाटू धाम श्याम मैं हार लिया,

श्याम नाम तू रटता जा,
सुने गा दाता तेरी कदे,
यही सुने है यही सुनेगा आज नहीं तो फिर कदे,
हारे का ये ही सहारा,दिल को अपने थाम श्याम मैं हार लिया,
खाटू वाले मुझे भुलाले अपने खाटू धाम श्याम मैं हार लिया,

Leave a Reply