kisne tujhko sajaya sanware mere shyam

किसने तुझको सजाया सांवरे मेरे श्याम
जब देखूं तुझको भूल मैं जाऊं खुद को
सांवरे मेरे श्याम……….

आजा तेरी आज मैं नज़रें उतारूं
सांवरे मैं तुझ पर नून राय वारुं
दिल कहे बस मैं तुझको निहारूं
दिल मेरा तुझपे ही आया सांवरे
सांवरे मेरे श्याम……….
‘सर पे चंवर झूले सांवरे तिहारे
काले काले मतवाले नैन कजरारे
ज़ुल्फ़े घटाई से छाया ये डाले
सोना टीका मुखड़े का आया सांवरे
सांवरे मेरे श्याम……….

ऐसा सोचूं जब जब तुमको निहारूं
अपने ये ज़िंदगानी तुमपे ही वारुं
चरणों में रह के तेरे ज़िन्दगी संवारु
साया तेरा विशु पे भी छाया सांवरे
सांवरे मेरे श्याम……….

Leave a Reply