koi chinta na jd maahre ser pe shyam dhani ko hath

कोई चिंता ना जद म्हारे सिर पे श्याम धनी को हाथ,
दीन दुखी ऋ बात विचारे बाबो दीना नाथ,
कोई चिंता ना जद म्हारे सिर पे

माहरे गाडी को गोहाकनियो खाटू वालो सांवरियो,
गद्दी म्हारी सरपट दोहड़े आंधी हो बरसात,
कोई चिंता ना जद म्हारे सिर पे

कलयुग माहि भगता ने तो पड़ो सहरो श्याम को,
टाबरिया री बांह पकड़ के चले साथ साथ,
कोई चिंता ना जद म्हारे सिर पे

माहरी किस्मत को बाछानियो के छानी है बाबा सु,
तोड़ो आवे संकट माहि बिगड़ी बनावे बात,,
कोई चिंता ना जद म्हारे सिर पे

मीठा मीठा भजना सु तो सांवरियो है रीज़े जी,
चोखानी भी सेवा माहि लाग रहे दिन रात,
कोई चिंता ना जद म्हारे सिर पे

Leave a Reply