laa lo maiya ji mera bhog gareeb daa

ला लो मइयां जी मेरा भोग गरीब दा,
ला लै दातिये मेरा भोग गरीब दा,
भोग गरीब दा जी भोग गरीब दा
ला लो मइयां जी मेरा भोग गरीब दा,

भिलनी दे बेर सुदामा दे तुंदल,
रुज रुज भोग लगाइयो मइयां जी
मेरा भोग गरीब दा,
ला लै जवाला माँ………

दुर्योदन दे मेवे त्यागे,
साग विदुर घर खाइयो मइयां जी,
मेरा भोग गरीब दा,
ला लै चामुंडा माँ………

रुखा सुखा भोजन मेरा,
शरदा नाल बनाया अमिये जी,
मेरा भोग गरीब दा,
ला लै अम्बे माँ………

सब संगता दी एहो शरदा,
आकर भोग लगाइयो मैया जी,
मेरा भोग गरीब दा,
ला लै काली माँ………

सब संगता दी एहो अर्जी,
संगता नु दर्श दिखाओ मइयां जी,
मेरा भोग गरीब दा,
ला लै दातिये मेरा भोग गरीब दा

ओह दिसदा दरबार शेरावाली दा
ओह दिसदा दरबार ज्योतावाली दा
ओह दिसदा दरबार लाटा वाली दा

आ गये मइया जी आ गये तेरे दरबार ते,
खोल दे बूहे मंदिरा दे तू दाती दीदार दे,
आ गये मइया जी आ गये तेरे दरबार ते,

हो खड़े सवाली अरजा करदे तू भगता नु तार दे,
आ गये मइयां जी आ गये तेरे दरबार ते,
आ गये मइया जी आ गये तेरे दरबार ते,
जय जय जय जय जय जय बोल के

Leave a Reply