maa kanjka naal khedi dita sufne ch maiya ne dedaar

दिता सुफने च मइयां ने दीदार,
माँ कंजका नाल खेड़दी फिरे,
धीया झुटदियाँ बेहना वारो वार,
माँ कंजकाँ नाल खेडदी
दिता सुफने च……..

पहली पींग चिन्तपुरनी चडाई ऐ,
झुटा दें माँ जवाला जी तो आई ऐ,
आई साओंन वाली अजीब बहार,
माँ कंजकाँ नाल खेडदी
दिता सुफने च……..

पींग नैना देवी मैयां ने चडाई ऐ,
झुटा दें माता कांगडे तो आई ऐ,
दिल करदा मैं वेखा वारो वार,
माँ कंजकाँ नाल खेडदी
दिता सुफने च……..

पींग मात चामुंडा ने चड़ाई ऐ,
झुटा दें माता शीतला वी आई ऐ,
ठंडे झोलियाँ दी आई ऐ फुहार,
माँ कंजकाँ नाल खेडदी
दिता सुफने च……..

पींग वैष्णो माँ रानी ने चडाई ऐ,
झुटा दें कलक्तियो माँ आई ऐ,
नाले जिंदर वी किते ने दीदार,
माँ कंजकाँ नाल खेडदी
दिता सुफने च……..

दुर्गा भजन

Leave a Reply