maaye ni tere sohne mandira to jee nhi jaan nu karda

कोई आये इकला कोई नाल परिवार दे,
असि भी ता चल आये माँ दे दरबार ते
रेहँदी न कोई थोड़ ओहनू माँ दे दर आके,
जेहड़ा चरना च हाज़रियाँ भर दा,
माये नि तेरे सोहने मंदिरा तो जी नहीं जान नु करदा,

तेरे नाम वाली मियां ज्योत जगाउने आ,
हर वेले मईया तेरा नाम ध्याउने आ वखरा ही सुख माये मिलदा है ओहनू,
जेहड़ा चरना च शीश तेरे धरदा
माये नि तेरे सोहने मंदिरा तो जी नहीं जान नु करदा,

भवन माँ तेरा लगे स्वर्गा तो प्यारा माँ,
देखेया ना एहो जेहा किते भी नजारा माँ,
रेहमता दवी माये मेरिये,
सदा तेरे चरना च वरदा,
माये नि तेरे सोहने मंदिरा तो जी नहीं जान नु करदा,

ऊंचा ते सुचा माये तेरा दरबार है,
ताहियो तनु पुजदा है सारा संसार है,
नकोदर दा मिंटू भी दर तेरे आके चेता भूल बैठा अपने घर दा,
माये नि तेरे सोहने मंदिरा तो जी नहीं जान नु करदा,

Leave a Reply