main banna chahata hu maa tere gunj jaikaaro ki

मैं बनना चाहता हु माँ तेरे गूँज जैकारो की,
माँ गूंज जैकारो की तेरे दरबारों की,
मैं बनना चाहता हु माँ तेरे गूँज जैकारो की

आते जाते भगता दे नाल तेरे जयकारे लावा,
देदो एसी नाम दी मस्ती तेरियां भेटा गावा,
रूह खुश हॉवे जेह्नु सुनके तेरे प्यारेया दी,
मैं बनना चाहता हु माँ तेरे गूँज जैकारो की

कोई कहंदा एह पत्थर बन जा कोई फुला दी माला,
चरना च जे ला ला माये मैं हां कर्मा वाला,
सेवक बन के करा मैं सेवा तेरे द्वारो की ,
मैं बनना चाहता हु माँ तेरे गूँज जैकारो की

नीले जहे लखा ने तारे लखा ने तर जाना,
पंकज टिनके ने भी तेरी जय जय कार बुलाना,
कोई कहंदा माँ खुश्बू मिल जे तेरे नजरो की,
मैं बनना चाहता हु माँ तेरे गूँज जैकारो की

Leave a Reply