main haar ke aaya hu bas tera sahara hai mera hath pakad lo shyam adhaar tumhara hai

मैं हार के आया हु बस तेरा सहारा है,
मेरा हाथ पकड़ लो श्याम आधार तुम्हारा है,
मैं हार के आया हु……

धनवान बहुत जग में पर दिल से अमीर नहीं,
तेरे प्रेम के धन से बड़ी कोई भी जागीर नहीं,
मैं प्रेमी तुम्हारा हु तू प्रेमी हमारा है,
मेरा हाथ पकड़ लो…….

दुनिया के झमेले में इक पल भी चैन नहीं,
ना दिन गुजरे सुख से कट ती कोई रेन नहीं,
तेरी शरण पड़ा जोगी तूने दुःख से अबारा है,
मेरा हाथ पकड़ लो….

तेरी छतरी के निचे नहीं चिंता फ़िक्र होती,
भगतो ने जगा ली है तेरे नाम की ही ज्योति,
चोखानी कहे तू ही जग पालनहारा है,
मेरा हाथ पकड़ लो

Leave a Reply