main ho ke diwani naachu chunariyan od ke ri maa

मनै ले लिया भगमा बाणा री,
ईब पिया टोहवण जाणा री,
तेरा घर छोड़ कै री माँ,
मै हौ कै दीवनी नाचूँ चुनरीया ओड कै री माँ,

मै दुनिया फिर फिर हारी,
मनै ना मिल्या मेरा मुरारी,
ईब छोड कै दुनिया दारी री,
मै जोगण बणने जारी ,
ना आऊं बोड़ कै री माँ,
मै हौ कै दीवनी नाचूँ चुनरीया ओड कै री माँ,

मेरे रोम रोम में बस्या री,
मेरे दिल का दीप चस्या री,
चढ्या उसके प्यार का नशा री,
होई पागल आली दशा री ,
मैं जां मुख मोड़ कै री माँ,
मै हौ कै दीवनी नाचूँ चुनरीया ओड कै री माँ,

गुरु सागर पार लगावै,
जन्म मरण के फंद छुडवावै,
यो सुरेश भाणा गावै,
मनै प्यार के गीत सुणावै,
नये छंद जोड़ कै री माँ ,
मै हौ कै दीवनी नाचूँ चुनरीया ओड कै री माँ,

Leave a Reply