maiya aisi lagan lga de main tere bina pal na rahu

मईया ऐसी लगन तू लगदे,
मै तेरे बिना पल ना रहूँ,
हो मै तेरे बिना पल ना रहूँ,
दिल में प्यार वाला दीप जगादे
मै तेरे बिना पल ना रहूँ

जैसे जल बिन मछली पल ना जीऐ.
ऐसे तड़पूं मैं धड़ी धड़ी तेरे लीऐ.
नशा प्यार वाला एसा चड़ा दे.
मै तेरे बिना पल ना रहूँ .

तेरे चरणों की धूल में मैं मिल जाऊं,
हो अब आशा यहीं हैं कहीं दूर ना जाऊं,
ऐसा भगती का रंग चड़ा दे,
मै तेरे बिना पल ना रहूँ ….

तूने दिल को चुराया मैने कुछ ना कहा,
तूने बड़ा तड़पाया मैंने कुछ ना कहा ,
अब एसी झलक दिखलादे,
मै तेरे बिना पल ना रहूँ ….

Leave a Reply