mere deva gaja nand ki mahima nyari mata gora sang pita tripurari

मेरे देवा गाजा नंदन की महिमा न्यारी,
माता गोरा संग पिता त्रिपुरारी,
जय हो जय हो गजानंद तुम्हारी,
मेरे देवा गाजा नंदन की महिमा न्यारी,

पहले पूजा हो वे जगत में तुम्हारी सुर नर मुनि जन तेरे पुजारी,
पहने वसतर पीला तिलक सोहे न्यारा,
सोहे मूसा की हर डैम सवारी,
जय हो जय हो गजानंद तुम्हारी,
मेरे देवा गाजा नंदन की महिमा न्यारी,

माया तेरी आजा भेह रूप है निराला,
खोले अपने भगतो की किस्मत का ताला,
भोग लगे लड्डुवन का तुम्हे प्यारा प्यारा,
लागे पूजा में पान सुपारी,
जय हो जय हो गजानंद तुम्हारी,
मेरे देवा गाजा नंदन की महिमा न्यारी,

चार भुजा बड़ो पेट लम्बी सूंढ़ वाली
भरते झोली खाली सुपासे कान वाले,
देना रिद्धि सीधी भंडार बरना समजो आई दवारियाँ तुम्हारी,
जय हो जय हो गजानंद तुम्हारी,
मेरे देवा गाजा नंदन की महिमा न्यारी,

Leave a Reply