mere ghar vich phera maa paaye mere ghar vich phera paa

मेरे घर विच फेरा पा माये मेरे घर विच फेरा पा,
ऐसी बैठे नैन विशा माँ तकदे तेरी राह,
मेरे घर विच फेरा पा माये मेरे घर विच फेरा पा,

तेरी ज्योत जगाई है माँ चौंकी सजाई है,
इक तेरे दर्शन दी माँ आस लगाई है,
बचिया ते कर्म कमा साड़ी झोली खैरा पा,
मेरे घर विच फेरा पा माये मेरे घर विच फेरा पा,

कोई दिल तो याद करे तू दर्श दिखानी है,
फिर साडी वारि क्यों माये देर लगानी ऐ,
माये न तू देर लगा एह अखियां न तरसा,
मेरे घर विच फेरा पा माये मेरे घर विच फेरा पा,

तेरी हाज़री लाउने आ असि तनु मनाउने आ,
असि वांग दीवाने दे तेरी भेटा गाउने आ,
साड़ी भगति न आजमा माये भुला दे बक्शा,
मेरे घर विच फेरा पा माये मेरे घर विच फेरा पा,

Leave a Reply