mere man mandir vich guru ji de naam di dhun vajdi

धुन वजदी नाम दी धुन वजदी,

मेरे मन मंदिर विच गुरु जी दे नाम दी धुन वजदी,
धुन वजदी ते केहन्दी गुरु जी मैं तेरे बिना किस कम दी,
मेरे मन मंदिर विच गुरु जी दे नाम दी धुन वजदी,

सोहना एह शरीर बना के अंदर बैठे आसान ला के,
जद किता दीदार तेरा दिसे मैनु सूरत रब दी,
मेरे मन मंदिर विच गुरु जी दे नाम दी धुन वजदी,

करा अरदास मैं ता चरना च तेरे खुशिया होवण सब दे वेहड़े,
हर पास ही सुख बरसे करदो किरपा मेरे गुरु जी,
मेरे मन मंदिर विच गुरु जी दे नाम दी धुन वजदी,

सिमरन दी डाट मेरी झोली विच पाना जी,
नाम जपाना मैनु अपना बनाना जी,
रखो चरना दे विच गुरु जी दासी हां मैं तेरे दर दी
मेरे मन मंदिर विच गुरु जी दे नाम दी धुन वजदी,

Leave a Reply