more kanha more sanwariya

पल पल तेरी याद सताए लागे न कही जियरा
तू ही तू दिखलाई देता याहा ये जाए नजरियाँ
मोरे कान्हा मोरे सांवरिया,

तुमे दिल में वसा कर हटाया नही जो रूठे क्या हमने मनाया नही
मेरे बांके बिहारी तुम आ जाओ न
अब और मुझको सांवरिया तडपाओ माँ
मुरली मनोहर मोरे सांवरिया मैं हु तेरी गुजरियां
तू ही तू दिखलाई देता याहा ये जाए नजरियाँ
मोरे कान्हा मोरे सांवरिया,

तेरी भगती की गंगा में दुभी रहू हर घडी तेरी माला मैं जप्ती रहू
तेरी जोगन हु मैं और पुजारन हु मैं,
तेरे चरणों की कान्हा बिखारण हु मैं
तेरी छाया में कटे जिंदगानी छोडू न टोरी दुआरिया
तू ही तू दिखाई देता याहा ये जाए नजरियाँ
तू ही तू दिखलाई देता याहा ये जाए नजरियाँ
मोरे कान्हा मोरे सांवरिया,

Leave a Reply