nach nach maiya de dwaare asi jana jana hai bhajaunde dhol bhagto

ख़ुशी विच जींद मार दी उडारियाँ माँ ने साहनु दितियाँ मुरादा सरियाँ,
गज वज दाती दे जैकारे ऐसी लाने होना नि किसे ने डावा डोल भगतो ,
नच नच मैया दे द्वारे असि जाना जाना है भजाउँदे ढोल भगतो

सब न दे दिला दिया जान दी माँ,
ततियाँ हवावा विच रखे ठंडी छा,
दाती सदा रेहमता दा मीह बरसावे,
जाके ता देखो भजाके ढोल भगतो,
नच नच मैया दे द्वारे असि जाना जाना है भजाउँदे ढोल भगतो

मंगलो माँ तो आज जो भी मंगना,
चढ़ी जावे मैया नाम वाली वंदना,
भगत ध्यानु वांगु ला के ध्यान दिला दे बूहे लवो खोल भगतो,
नच नच मैया दे द्वारे असि जाना जाना है भजाउँदे ढोल भगतो

नच नच आज ऐसी नहियो रुकना हिरदये च मैया नु वसा के रखना,
सब कुछ दुनिया चो मूल मिल जांदा,
पर माँ दा प्यार अनमोल भगतो,
नच नच मैया दे द्वारे असि जाना जाना है भजाउँदे ढोल भगतो

गुर मुख हंस माँ दे गुण गावे गा,
सांगता दे विच हजारी लगावे गा,
माँ दे चरना चो एह सिखियाँ मीठे सदा मिलने ने बोल भगतो,
नच नच मैया दे द्वारे असि जाना जाना है भजाउँदे ढोल भगतो

Leave a Reply