new Shiv Ji ke Bhajan lyrics

bhajan Lyrics Bhakti- bhakti.lyrics-in-hindi.com

new Shiv Ji ke Bhajan lyrics

लिङ्गाष्टकम् शिवलिंग स्तुति – lingashtakam lyrics With meaning in hindi

    श्री शिव की स्तुति में एक स्तोत्रम् (भजन) Lingashtakam है, शिव जिन्हें महेश्वर, रुद्र, आदि भी कहा जाता है। लिंग शिव का प्रतीक है जैसे शंख और चक्र श्री विष्णु के प्रतीक हैं। लिंगाष्टकम स्तोत्रम भगवान शिव की प्रार्थना है। लिंग सृष्टि का सार्वभौमिक प्रतीक और संसार के हर एक चीज का स्रोत है। Lingashtakam में भगवान शिव की महिमा का वर्णन किया गया है। प्रत्येक श्लोक में भगवान की महिमा और शिव लिंग की पूजा के लाभों को वर्णित किया गया है। इसमें यह भी उल्लेखित है कि विष्णु और ब्रह्मा द्वारा भी लिंग की पूजा की जाती है। यह मंत्र हर समय शांति से ओत प्रोत कर जन्म और पुनर्जन्म के चक्र के कारण किसी भी दुख को नष्ट कर देता है।

lingashtakam lyrics With meaning in hindi
ब्रह्ममुरारि सुरार्चित लिंगं
निर्मलभासित शोभित लिंगम् ।
जन्मज दुःख विनाशक लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ १ ॥

हम उन सदाशिव लिंग को प्रणाम करते हैं। जिनकी ब्रह्मा विष्णु एवं देवताओं द्वारा भी अर्चना की जाती है आप सदैव निर्मल भाषाओं द्वारा पुजित हैं और जो लिंग जन्म-मृत्यू के चक्र का विनाश करता है (सभी को मोक्ष प्रदान कराता है)

देवमुनि प्रवरार्चित लिंगं
कामदहन करुणाकर लिंगम् ।
रावण दर्प विनाशन लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ २ ॥

सभी देवताओं और मुनियों द्वारा पुजित लिंग जो काम का दमन करता है तथा करूणामयं भगवान् शिव का स्वरूप है जिसके द्वारा रावण के अभिमान का भी नाश हुआ उन सदाशिव लिंग को मैं प्रणाम करता हूँ

सर्व सुगंध सुलेपित लिंगं
बुद्धि विवर्धन कारण लिंगम् ।
सिद्ध सुरासुर वंदित लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ ३ ॥

जो सभी प्रकार के सुगंधित पदार्थों द्वारा सुलेपित लिंग है जो कि बुद्धि का विकास करने वाला है तथा सिद्ध- सुर (देवताओं) एवं असुरों सभी के लिए वन्दित है उन सदाशिव लिंग को हमारा प्रणाम।

कनक महामणि भूषित लिंगं
फणिपति वेष्टित शोभित लिंगम् ।
दक्ष सुयज्ञ निनाशन लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ ४ ॥

जो स्वर्ण एवं महामणियों से विभूषित एवं सर्पों के स्वामी से शोभित सदाशिव लिंग तथा जो कि दक्ष के यज्ञ का विनाश करने वाला है।आपको हमारा प्रणाम।

कुंकुम चंदन लेपित लिंगं
पंकज हार सुशोभित लिंगम् ।
संचित पाप विनाशन लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ ५ ॥

लिंग जो कुंकुम एवं चन्दन से सुशोभित है। कमल हार से सुशोभित है। सदाशिव लिंग जो कि हमें सारे संञ्चित पापों से मुक्ति प्रदान करने वाला है उन सदाशिव लिंग को हमारा प्रणाम।

देवगणार्चित सेवित लिंगं
भावै-र्भक्तिभिरेव च लिंगम् ।
दिनकर कोटि प्रभाकर लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ ६ ॥

सदाशिव लिंग को हमारा प्रणाम जो सभी देवों एवं गणों द्वारा शुद्ध विचार एवं भावों के द्वारा पुजित है तथा करोडों सूर्य सामान प्रकाशित हैं।

अष्टदलोपरिवेष्टित लिंगं
सर्वसमुद्भव कारण लिंगम् ।
अष्टदरिद्र विनाशन लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ ७ ॥

आठों दलों में मान्य तथा आठों प्रकार के दरिद्रता का नाश करने वाले सदाशिव लिंग जो सभी प्रकार के सृजन के परम कारण हैं आप सदाशिव लिंग को हमारा प्रणाम।

सुरगुरु सुरवर पूजित लिंगं
सुरवन पुष्प सदार्चित लिंगम् ।
परात्परं परमात्मक लिंगं
तत्-प्रणमामि सदाशिव लिंगम् ॥ ८ ॥

देवताओं एवं देव गुरू द्वारा स्वर्ग के वाटिका के पुष्पों द्वारा पुजित परमात्मा स्वरूप जो कि सभी व्याख्याओं से परे है उन सदाशिव लिंग को हमारा प्रणाम।

लिंगाष्टकमिदं पुण्यं यः पठेश्शिव सन्निधौ ।
शिवलोकमवाप्नोति शिवेन सह मोदते ॥

लागी मेरी तेरे संग लगन ओ मेरे शंकरा लिरिक्स – Laagi Meri Tere Sang Lagan Mere Shankara lyrics

भोले बाबा तेरी क्या ही बात है
भोले शंकरा तेरी क्या ही बात है
दूर होके भी तू साथ है ओ..
दूर होके भी तू साथ है

खुद को मैं कर दूंगा तुझको समर्पण
मैं तेरा आंसू हूँ तू मेरा दर्पण
तेरे ही होने से मेरी ये सारि ज़िंदगी सजी है

लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा
लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा

तू पिता है मेरा और तू ही रहेगा
मेरी हर गलती को तू हस्स कर सहेगा
तेरे जाप से मनका उड़ गया है रे पंछी
सब तेरी बदौलत है आज रघुवंशी

तू सक्षम है और तू ही विशाल है
तू उत्तर है और तू हे सवाल है
तू ही सत्या बाकी ज़िंदगी भी ना सगी है

लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा
लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा

न यावत् उमानाथ पादाराविन्दम्
भजंतीह लोके परे वा नराणाम्
न तावत् सुखम् शांति सन्ताप नाशम्
प्रसीद प्रभो सर्वभूताधिवासम्

ध्यान में है मगन
तन पे ओढ़ के रे चोली
मुझे अपने रंग में रंग दे
संग खेल मेरे होली

ना आसान है निचे ना है कोई खटोली
मुझे अपने रंग में रंग दे संग खेल मेरे होली

बस भी करो अब मेरे शंकरा
भांग रगड़ के बोली ये गोरा
तुम नहीं रजे हो गोरा लौट के रजी है

लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा
लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा

लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा
लागी मेरी तेरे संग लगी ओ मेरे शंकरा

बड़े मतवाले है मेरे भोले बाबा लिरिक्स – Bade Matwale Hai Mere Bholebaba Lyrics

बड़े मतवाले है मेरे भोले बाबा
जटा में जिसके बहे गंगा
भोले पीते है भंगा
बड़े मतवाले है मेरे भोले बाबा
जग से निराले है मेरे भोले बाबा

कर में त्रिशूल साजे
हाथो में कमण्डल विराजे
गले में सर्पो की माला
मस्तक पर चाँद है निराला
वाघम्बर ओढ़े भस्म रमाये
श्रिंगी बजाने वाले है
मेरे भोले बाबा…

सागर का मंथन है किना
देवो ने तुमको पुकारा
चौदह रतन जब निकले
आपस में किया बटवारा
अमृत को देवो ने पिया
विष पिने वाले है
मेरे भोले बाबा…

देवो में सबसे है न्यारे
सारे जग के हो तुम रखवारे
हाथ जोड़ कर भक्त पुकारे
आ जाओ देव हमारे
बम बम बम भोले
जग से निराले है मेरे भोले बाबा

बेस्ट भजन शिव भजन

चलो रे दीवानो भोले बाबा कि नगरिया लिरिक्स – Chalo Re Diwano Bhole Baba Ki Nagariya Lyrics

चलो रे दीवानो भोले बाबा कि नगरिया
वो तो दानी बड़े हैं वो दाता बड़े
मेंरे भोले बाबा भोले बाबा
चलो रे दीवानो….

बाबा है दुखियो के वाली
दर से ना जाये कोई खाली
कर दे दया भोले बाबा हरदम
कहता है हर एक सवाली हो
मुझपे भोले बाबा नजरे करम हो
हो जाये बेडा पार हो ..
चलो रे दीवानो…

हर दिल के राज जानते है बाबा
हर किसी को पहचानते है बाबा
जिसने जो भी माँगा है आकर
झोली भर देते है मेरे बाबा
और ना कोई ऐसा जग में
दुनिया में भगवान हो
चलो रे दीवानो……

अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा लिरिक्स – Ajab Hai Bhole Natha Ye Darbar Tumhara Lyrics

अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा
दरबार तुम्हारा
भूत प्रेत नित करे चाकरी सबका यहा गुजारा
अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा
दरबार तुम्हारा

बाघ बैल को हरदम एक जगह पे आके
कभी ना एक दूजे को बुरी नज़र से ताके
कहीं और नहीं देखा हमने ऐसा गजब नज़रा
अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा
दरबार तुम्हारा

गणपति राखे चूहा कभी सर्प नहीं छूआ
भोले सर्प लटकाये कार्तिक मोर नचाये
आज का काम नहीं है तेरा अनुशाषित है सारा
अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा
दरबार तुम्हारा

उज्जैन नगरी महाकाल रो लिरिक्स – Ujjain Nagri Mahakal Ro Lyrics

उज्जैन नगरी महाकाल रो मंदिर बनियो जोर को
महाकाल ही बांधे राखे भक्तों की डोर को
जयकारो गूंजे रे बाबा महाकाल रो

सावन महीनो उज्जैन नगरी मेला लागे भारी जी
कावड़िया तो चरणी आवे पूजे दुनिया सारी जी
जयकारो गूंजे रे बाबा महाकाल रो

महाकाल को दर्शन करने पैदल पैदल आवे जी
झूमि नाचे भगत घनेरा डीजे जोर बजावे जी
जयकारो गूंजे रे बाबा महाकाल रो

नर नारी तो आंगन आवे चरणी जोग लगावे जी
केसर चंदन तिलक लगावे मनचाहा फल पावे जी
जयकारो गूंजे रे बाबा महाकाल रो

उज्जैन नगरी महाकाल रो मंदिर बनियो जोर को
महाकाल ही बांधे राखे भक्तों की डोर को
जयकारो गूंजे रे बाबा महाकाल रो

भोले शंकर दानी तू जग का विधाता है लिरिक्स – Bhole Shankar Dani Tu Jag Ka Vidhata Hai Lyrics

भोले शंकर दानी,तू जग का विधाता है,
अपने भक्तो का तू,अपने भक्तो का तू,
बस दीन दाता है,
भोलें शंकर दानी,तू जग का विधाता है।।

जब दुनिया सोती है, तब तू ही जगता है,
जग का पालन पोषण, बस भोला करता है,
भक्तों के कष्टों को,भक्तों के कष्टों को,
तू दूर भगाता है,
भोलें शंकर दानी,तू जग का विधाता है।।

कोई दूध से नहलाए,जल कोई चढ़ा जाए,
कोई उख का जल सींचे,कोई भंग पीला जाए,
कोई आक धतूरे का, कोई आक धतूरे का,
तुझे भोग लगाता है,
भोलें शंकर दानी,तू जग का विधाता है।।

किस्मत ही बदल डाले,जो नाम जपे तेरा,
आफत से तू टाले,जो ध्यान धरे तेरा,
चरणों में ‘हर्ष’ तेरे,चरणों में ‘हर्ष’ तेरे,
ये शीश झुकाता है,
भोलें शंकर दानी,तू जग का विधाता है।।

भोले शंकर दानी,तू जग का विधाता है,
अपने भक्तो का तू,अपने भक्तो का तू,
बस दीन दाता है,
भोलें शंकर दानी,तू जग का विधाता है।।,

भोले तेरे चरणों की गर धुल जो मिल जाए लिरिक्स – Bhole Tere Charno Ki Gar Dhul Jo Mil Jaye Lyrics

भोले तेरे चरणों की
गर धुल जो मिल जाए,
सच कहता हूँ भोले
तकदीर बदल जाए
भोले तेरे चरणों की….

सुनते है तेरी रहमत,
दिन रात बरसती है
एक बूँद जो मिल जाए ,
दिल की कली खिल जाए
भोले तेरे चरणों की….

यह मन बड़ा चंचल है,
कैसे तेरा भजन करूँ
जितना इसे समझाऊँ ,
उतना ही मचल जाए
भोले तेरे चरणों की….

नजरों से गिराना ना,
चाहे लाख सजा देना
नज़रों से जो गिर जाए ,
मुश्किल है संभल पाए
भोले तेरे चरणों की….

भोले इस जीवन में,
बस एक तमन्ना है
तुम सामने हो मेरे ,
मेरी जान निकल जाए
भोले तेरे चरणों की….

Bhole Tere Charno Ki Gar Dhul Jo Mil Jaye Lyrics
Song :- Bhole Tere Charno Ki dhul jo mil jaye
Singer :- Ravi raj
Lyrics :- Traditional

बेस्ट भजन शिव भजन

डमरू जो बाजे हाथो में लिरिक्स – Damaru Jo Baje Hatho Me Lyrics

फ़िल्मी तर्ज – चूड़ी जो खनकी हाथो में

डमरू जो बाजे हाथो में
नाचे धरती और आकाश
के भोले बाबा नाच रहे
डमरू जो बाजे हाथो में

भांग धतुरा भोग लगे
गल सर्पो की माला है
गोदी में श्री गणेशजी
संग में गौरा माता है
तीनो लोको के स्वामी है
तीनो लोको के स्वामी है
ये तो कृपा बाट रहे
के भोले बाबा नाच रहे
डमरू जो बाजे हाथो में …

आये जो इनके द्वारे
करते है वारे न्यारे
नागो के स्वामी नागेश्वर
बिगड़े काम बनाते है
सब की झोली ये आज भरे
सब की झोली ये आज भरे
तूम भजन गाओ दिन रात
के भोले बाबा नाच रहे
डमरू जो बाजे हाथो में …

ये विश्वास मेरे मन में
मै शिव का शिव है मुझ में
नित्य नेम से जो ध्यावे
भोले है उसके संग में
देवो के देव महादेव है
देवो के देव महादेव है
ये तो विपदा हरते है
के भोले बाबा नाच रहे
डमरू जो बाजे हाथो में ..

भोळया शंकरा आवळ तुला लिरिक्स – Bholya Shankar Aawad Tula Lyrics

फ़िल्मी तर्ज – तू मुझे कुबूल ( खुदा गवाह )

भोळया शंकरा आवळ तुला
भोळया शंकरा आवळ तुला
हे आवळ तुला बेलाच्या…..
पानाची पानाची पानाची

गळया मधे रुद्रा चा माडा
गळया मधे रुद्रा चा माडा
लाविले तू भस्म कपाडा
हे आवळ तुला बेलाच्या..
पानाची पानाची पानाची
भोळया शंकरा आवळ तुला …

त्रिशूल डमरू तुझ्या हाथी
त्रिशूल डमरू तुझ्या हाथी
संगे नाचे पारवती
हे आवळ तुला बेलाच्या..
पानाची पानाची पानाची
भोळया शंकरा आवळ तुला …

भोलेनाथ आलो द्वारी
भोलेनाथ आलो द्वारी
कुठे ना दिसे तुझा पुजारी
हे आवळ तुला बेलाच्या..
पानाची पानाची पानाची
भोळया शंकरा आवळ तुला …

फ़िल्मी तर्ज भजन शिव भजन

नमो नमो जय नमः शिवाय लिरिक्स – Namo Namo Jai Namah Shivay Lyrics

नमो नमो जय नमः शिवाय
कितने भोले मेरे शिव है
करते है कमाल शंकर
नमो नमो…..

चला था शंकर कथा सुनाने
अमरनाथ का राज बताने
पंचरतन को त्याग अपने
पार्वती को भेद बताने
कथा को सुनकर अमर हो गया
इक जोड़ा कबूतर का
आज भी उड़ते अमरनाथ में
रूप है गौरी शंकर का
नमो नमो जय नमः शिवाय

विस्तार कर दिया जो
लेख शिवा ने
अमरनाथ की हवा पहाड़ी
और गुफा ने
दिव्य लोक की दिव्य दिशाए
जपती रहती नमः शिवाय
नित धरती पर आके शिवा ने
कल्याण कर दिया हम सब का
नमो नमो जय नमः शिवाय

हर हर महादेव शिव शंकर त्रिपुरारी लिरिक्स – Har Har Mahadev Shiv Shankar Tripurari Lyrics

हर हर महादेव शिव शंकर त्रिपुरारी

सागर तट पर पूजें, तुमको राम धनुर्धारी
शंकर से संकट भागे, ओर शत्रुन छेकारी

माथे पे गंग तेरे, लिपटे भुजंग तेरे
भभूति अंग तेरे सोहे, भूतन का संग तेरे

पीने को भंग तेरे, भाल पे चंद्र मन मोहे
जय जय शंकर त्रिपुरारी, जय जय शंकर त्रिपुरारी

भक्तों के काज सारे, असुरों को तू संघरे
करते नंदी की सवारी, जग के संघार कर्ता

डमरू त्रिशूल धर्ता, यश गाते वेदचारी
हर हर महादेव शंकर त्रिपुरारी

गिरिजापति दीनदयाला, गणपति है तुम्हरे लाल
पल में करते हो बोलबाला, पसुपति तू है रखवाला

विश्वनाथ जय महाकाला, प्रभु संतन के हो प्रतिपाला
जय जय शंकर त्रिपुरारी, जय जय शंकर त्रिपुरारी

तेरे दर को मै छोड़ कहा जाऊं ना दूजा कोई लिरिक्स – Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Na Duja Koi Lyrics

तेरे दर को मै छोड़ कहा जाऊं
ना दूजा कोई द्वार ना दिखे

तुझ बिन जीना भी क्या जीना
तेरा दर ही मेरा ठिकाना
हो तेरे दर को मै….

तेरा दर्शन जब मै पाऊ
दुनिया के गम भूल ही जाऊ
हो तेरे दर को मै….

इतनी कृपा बस हम पर कर दे
नाम तेरा गाऊ मुझे यही वर दे
हो तेरे दर को मै….

सावन के महीने में भोले के दर्शन पा लो लिरिक्स – Sawan Ke Mahine Me Bhole Ke Darshan Pa lo Lyrics

फ़िल्मी तर्ज़ :- सावन का महीना, पवन करे सोर

शिव गौरां के मिलन का उत्सव,
मिलकर सब मना लो
सावन के महीने में, भोले के दर्शन पा लो

देवों के हैं देव ये तो, भोले हैं भंडारी,
गौरां जी के संग में, विराजें त्रिपुरारी ।
शरण में आ के इनकी,
चरणों में ध्यान लगा लो
सावन के महीने में…

भक्ति की ज्योती अपने मन में जलायो,
जय हो भोलेनाथ जय हो महादेव गायो
होंगी मुरादें पूरी,
तुम हमसे ये लिखवा लो
सावन के महीने में…..

भक्तों के मन में क्या है, सब जानते हैं,
बोले बिना ही प्रभू, पहचानते हैं ।
डग मग नैया डोले (तो),
शम्भु को मीत बना लो.
सावन के महीने में….

बिना शिव की मर्जी के, फूल खिले ना,
इनके इशारे बिना, पत्ता भी हिले ना ।
“सदावर्तीया” शिव शंकर को
मन में तुम बसा लो,
सावन के महीने में…..

भोले का जयकारा तू लगा के देख ले लिरिक्स – Bhole Ka Jaikara Tu Laga Ke Dekh Lyrics

भोले का जयकारा तू लगा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले…

हाथो में डमरू जटाओं मे गंगा,
तन पे विभूति और माथे पे चंदा,
नैनो में इस रूप को बसा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले,
भोले का जयकारा तू लगा के देख ले….

मेरे भोले बाबा की लीला है न्यारी,
कहते है लोग इन्हें त्रिपुरारी,
एक बार महिमा तू भी गा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले,
भोले का जयकारा तू लगा के देख ले….

सावन का महीना चलो भोले के द्वारे,
कांधे पे कावड और भोले के जय जय कारे,
एक बार कावड तू भी ठा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले,
भोले का जयकारा तू लगा के देख ले….

जोगी बन जाना शिवा दा नाम जपके लिरिक्स – Jogi Ban Jana Shiva Da Naam Japke Lyrics

जोगी बन जाना शिवा दा नाम जपके…..

माएँ नि माएँ मैनु चोला प्वाई दे,
चोलियाँ ओं पाँदे जीना दे पुत्र जोगी…..

माएँ नि माएँ मैनु मुंद्रा प्वाई दे,
मुंद्रा ओं पाँदे जीना दे पुत्र जोगी…..

माएँ नि माएँ मैनु चिम्टा प्वाई दे,
चिम्टा ओं पाँदे जीना दे पुत्र जोगी…..

माएँ नि माएँ मैनु मुकुट प्वाई दे,
मुकुट ओं पाँदे जीना दे पुत्र जोगी…..

माएँ नि माएँ मैनु खंडोंआँ प्वाई दे,
खंडोंआँ ओं पाँदे जीना दे पुत्र जोगी….

भोले का जयकारा तू लगा के देख ले लिरिक्स -bhole ka jaikara tu laga ke dekh le Lyrics

भोले का जयकारा तू लगा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले…

हाथो में डमरू जटाओं मे गंगा,
तन पे विभूति और माथे पे चंदा,
नैनो में इस रूप को बसा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले,
भोले का जयकारा तू लगा के देख ले….

मेरे भोले बाबा की लीला है न्यारी,
कहते है लोग इन्हें त्रिपुरारी,
एक बार महिमा तू भी गा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले,
भोले का जयकारा तू लगा के देख ले….

सावन का महीना चलो भोले के द्वारे,
कांधे पे कावड और भोले के जय जय कारे,
एक बार कावड तू भी ठा के देख ले,
बन जाए सारे काम तू भी आके देख ले,
भोले का जयकारा तू लगा के देख ले….

भोले भंडारी दा डम डम डमरू बजदा लिरिक्स – Bhole Bhandari Da dam Dam Damaru Bajada Lyrics

भोले भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
शम्भू भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
डम डम डमरू बजदा…..

तीन लोक ब्रह्मांड नचाया, देवी देव दा मन हर्षाया,
डमरू बजाके भोला मेरा हो…..
आप कैलाश ते नचदा,
भोले भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
शम्भू भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
डम डम डमरू बजदा..

मस्तक चंदा शोभा पावे, जटा से गंगा बहती जावे,
तारे टीम टीम करदे डमरू हो……
बदला वांगु गज़दा,
भोले भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
शम्भू भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
डम डम डमरू बजदा..

भक्त प्यारे नचदे गौन्दे, नच नच के शिवा मनोन्दे,
लाडला पवन चरणी बेके हो…..
करदा रहवे सजदा,
भोले भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
शम्भू भंडारी दा डम डम डमरू बजदा,
डम डम डमरू बजदा..

दादाजी धुनिवाले भजन देवी भजन राम भजन साईं बाबा भजन हनुमान भजन

शंभू रे ओ शंभू रे तेरा भेद ना जाना लिरिक्स – Shambhu Re o Shambhu Re Tera Na Jana Lyrics

शंभू रे ओ शंभू रे, तेरा भेद ना जाना,
शंभू रे ओ शंभू रे,
तेरा भेद ना जाना,
वेदों की महिमा शंभू जाने,
वेदों की महिमा शंभू जाने,
शम्भू की महिमा वेद भी ना जाने,
शंभू रे ओ शंभू रे,
तेरा भेद ना जाना।

लंका मे लंकेश बिठाया,
खुद बैठा तू जोगी बनके,
हो हो..
लंका मे लंकेश बिठाया,
खुद बैठा तू जोगी बनके,
सबको तूने राजा बनाया,
खुद बैठा तू साधु बनके,
साधु रे ओ साधु रे,
तेरा भेद ना जाना,
वेदों की महिमा साधु जाने,
साधु की महिमा वेद भी ना जाने,
शंभू रे ओ शंभू रे,
तेरा भेद ना जाना।

देव असुर को अमृत देकर,
खुद पीवे तू विष का प्याला,
हो हो..
देव असुर को अमृत देकर,
खुद पीवे तू विष का प्याला,
तुझ जैसा ना कोई भयंकर,
ना कोई है भोला भाला,
भोले रे ओ भोले रे,
तेरा वेद ना जाना,
भोले की महिमा भोला जाने,
भोले की महिमा जाने ना कोई,
शंभू रे ओ शंभू रे,
तेरा भेद ना जाना।

शिव मंदिर में दीप जला के करलो मन उजियारा लिरिक्स – Shiv Mandir Me Dip Jala Ke Karlo Man Ujiyara Lyrics

शिव मंदिर में दीप जला के
करलो मन उजियारा,
भक्तो करलो मन उजियारा,
शिव चरणों में अर्पण करदो,
अपना जीवन सारा जीवन सारा,
करलो मन उजियारा………..

धन तू चीज है आणि जानी मोह करो न धन का,
त्रिपुरारी की शरण में आओ चैन मिले जीवन का,
काम आये जो हर संकट में नाम वही है प्यारा,
है प्यारा भगतो शिव का नाम है प्यारा………..

भोर भी होगी क्यों डरते हो दुःख की रातो से,
शिव जी तो है बड़े दयालु देंगे दोनों हाथो से,
जटा से निकली गंगा में है शीतल सुख धारा,
शिव का नाम है प्यारा………..

डग मग नैया ढोल रही है पवन का तेज है बहाओ,
देख के उची उची लहरें काहे तुम गबराओ,
शिव सागर में जो में उतरा शिव ने पार उतारा,
शिव मंदिर में दीप जला के करलो मन उजियारा………

हरे तीन पत्तो मे क्या बल है लिरिक्स – Hare Tin Patto Me Kya Bal Hai Lyrics

हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
भोला मगन है भोला मगन है,
हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है॥

सरयु मगन है गोमती मगन है,
गंगा में ऐसा क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है॥

सूरज मगन है तारे मगन है,
चंदा में ऐसा क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
हरे तीन पतों मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है॥

बिच्छु मगन है ततैया मगन है,
नागो में ऐसा क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है॥

ढोलक मगन है मजीरा मगन है,
डमरू में ऐसा क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है॥

लड्डू मगन है पेड़ा मगन है
भाग धतूरे में ऐसा क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है॥

शाल मगन है दुशाला मगन है,
बाघम्बर में ऐसा क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है॥

गणपति मगन है कार्तिक मगन है,
गौरा में ऐसा क्या बल है जिसमे भोला मगन है,
हरे तीन पत्तो मे क्या बल है जिसमे भोला मगन है

new Shiv Ji ke Bhajan lyrics

Leave a Reply