nit uth kar bhagvan ka pujan karo

नित उठ कर भगवन का पूजन करो,
श्रद्धा से तू उसको नमन करो,
नित उठ कर भगवन का पूजन करो,

वो सबको तारे जो भी पुकारे निष् दिन जो जाए उसी के द्वारे,
भगतो कर लो तुम उसका सुमिरन,
श्रद्धा से तू उसको नमन करो,
नित उठ कर भगवन का पूजन करो,

भक्त प्रलाह्द को उसने पुकारा मीरा जी को उसने तारा,
द्रोपदी सुदामा को दिए दर्शन,
श्रद्धा से तू उसको नमन करो,
नित उठ कर भगवन का पूजन करो,

सुन मेरे प्यारे जा उसके द्वारे,
वो है पाप विकारो को मारे
रखो तुम उस से अपना पण,
श्रद्धा से तू उसको नमन करो,
नित उठ कर भगवन का पूजन करो,

Leave a Reply