ohde lal lal chunari singh pe swaari maa aaj aai re

ओढ़े लाल लाल चुनरी सिंह पे सवारी माँ आज आई रे,
देखो माई लगे प्यारी सिंह पे सवारी माँ आज आई रे,
माँ के माथे पे कुम कुम की बिंदियां है सोहे,
गले नीबूवन की माला है माँ ने पिरोये,
ओढ़े लाल लाल चुनरी

जब जाऊ मियां के दर पे भगति दीप जलाऊ माँ,
नंगे पग से मैं चल आउ तेरा दर्शन पाउ माँ,
ओढ़े लाल लाल चुनरी…

कलकत्ते की काली मैया नैया पार लगाओ माँ,
महीयर वाली शारदा माई बिगड़ी मेरी बनाओ माँ,
ओढ़े लाल लाल चुनरी

Leave a Reply