oye maiyan de navraate aa gaye sare khich lawo bhagt tyaariyan

बच्चे बूढ़े ये जवान सारे चावा नाल जान,
देखो खड़ियाँ ने गाड़ियां शृंगारियाँ,
ओये मइयां दे नवराते आ गये,
सारे खींच लावो भगत त्यारियां,
ओये मइयां दे नवराते आ गये,

माता दे द्वारे उते नित भावे जांदियाँ ही रेहन संगता,
वखरा ही आनंद है नराते दे दिना विच केहन संगता,
खूब लग दियां रोनका ने भारियाँ,
ओये मइयां दे नवराते आ गये,

माता चाहे पल विच जल नाल भर दवे,
सूखे थल नु संगता दे हड़ नु ना भीड़ कह के हासे च उडायो गल नु,
वरि आनदियां ने सूखा एथे सरियाँ,
ओये मइयां दे नवराते आ गये,

किती माता दी ना दीद किवे माता तेरे उते जावे रीज बन्दियाँ,
भुटा नाम वाला छड़ रहा कीकारा दे बीज ता तू बीज बन्दिया,
सुमि भाल दा केसर क्यारियां,
ओये मइयां दे नवराते आ गये,

This Post Has One Comment

  1. Pingback: oye maiyan de navraate aa gaye sare khich lawo bhagt tyaariyan – bhakti.lyrics-in-hindi.com – tineb.org/blogger

Leave a Reply