pakadlo hath jagdambe nhi to dub jaungi

पकड़लो हाथ जगदम्बे नहीं तो डूब जाउंगी
तुम्हारा कुछ न बिगड़ेगा, मैं अपनी जान दे दूंगी
तो बैठी शेर पे मैया, मैं नीचे इस तरह से हु
उत्तर आ शेर से मैया, मैं दर्शन कर के जाउंगी

पकड़लो हाथ जगदम्बे नहीं तो डूब जाउंगी
कि दीपक तुम बनो मैया,कि बाती मैं बनु मैया
जला दो जोत हिर्दय मैं , मैं आरती कर के जाउंगी

पकड़लो हाथ जगदम्बे नहीं तो डूब जाउंगी
खड़ी है बीच भवर नैया, लगा दो पार इसे मैया
खिवैया बन के आ जाओ, नहीं तो डूब जाउंगी

तुम्हारा कुछ न बिगड़ेगा, मैं अपनी जान दे दूंगी
पकड़लो हाथ जगदम्बे नहीं तो डूब जाउंगी..

दुर्गा भजन

This Post Has One Comment

  1. Pingback: sajaaye bethe hai mehfil Bhajan Lyrics – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply