raati sapne de vich aa geya

मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती सपने दे विच आ गया,
जेह्डा रहंदा हर दम नाल राती सपने दे विच आ गया,
राती सपने दे विच आ गया…
तेनु आनंदपुर सचखंड लै जानगे तू क्यों भगता घबरा गया,
मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती……….

लंबा पेंदा श्री प्राग दा मैं दस किवे आवा,
मैं दस किवे आवा दातेया मैं दस किवे आवा,
असी बांह फड ले जांगे तू क्यों भगता गबरा गया,
मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती सपने दे विच आ गया,

अंदर मेरे घोर हनेरा मैं दस किवे आवा,
मैं दस किवे आवा दातेया मैं दस किवे आवा,
असी ज्योत जगा दिआंगे तू क्यों बहता गबरा गया,
मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती सपने दे विच आ गया,

मापे मेरे आन ना दिंदे मैं दस किवे आवा,
मैं दस किवे आवा दातिये मैं दस किवे आवा,
असी चिठियाँ पा दिआंगे तू क्यों भगता गबरा गया
मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती सपने दे विच आ गया,

पल्ले मेरे पैसे है नि मैं दस किवे आवा,
मैं दस किवे आवा दातिया मैं दस किवे आवा,
असी झोलियाँ भर दिआंगे तू क्यों भगता गबरा गया,
मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती सपने दे विच आ गया,

जिस रस्ते तुसी आना दाता उथे फूल विछावा
दिल नही लगदा तेरे बाझो हूँ किवे मैं आवा,
हूँ किवे मैं आवा दातेया हूँ किवे मैं आवा,
असी कार च लै जांगे तू क्यों भगता गबरा गया,
मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती सपने दे विच आ गया,

रूहा दे कल्याण दी खातिर पंज नियम बनाये,
श्री आरती पूजा सेवा सत्संग सुमिरन ध्यान बताये,
सुमिरन ध्यान बताये दातिये सुमिरन ध्यान बताये
जो श्रदा नाल करे ओह गुरा दा दर्शन पा गया,
मेरा सतिगुरु दीं दयाल राती सपने दे विच आ गया,

गुरुदेव भजन

This Post Has 2 Comments

  1. Pingback: je mainu akhri vari gana hove meri vaishno maa – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  2. Pingback: hume shyam pyaare tere naam ka sahaara – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply