radha ekam radha radha duni shyaam

राधा एकम राधा राधा दुनि श्याम
सारा ब्रज धाम राधा श्याम का गुलाम

राधा तिया जमुना की पवन ये धारा
जिसके तीरे होता था प्रेम का नज़ारा
राधा रानी सुन्दर रूप ललाल
सांवरा सलोना बड़ा है घनश्याम
राधा एकम राधा……..

राधा चौकी माधव की मुरली सुहानी
गैया दीवानी जिसकी गोपिया दीवानी
मन में लिखे दो सुन्दर नाम
एक तरफ राधा एक तरफ श्याम
राधा एकम राधा………

राधा पंजे ब्रज की नराली ये होली
श्याम संग खेले जिसे गोपियों की टोली
मथुरा है ये बड़ा मंगल धाम
यहाँ कण कण बसे है राधे श्याम
राधा एकम राधा……….

Leave a Reply