Ram Bhajan Lyrics in Hindi All time Best Lyrics Ram ji

Ram Bhajan Lyrics in Hindi All time Best Lyrics Ram ji

वही राम एक रमा हुआ है

वही राम एक रमा हुआ है,
रमा हुआ तन मन में मैं तो,
राजी हूं राम भजन में।।

चंदा से चकोर है राजी, मोर पपैया बन मे रामा ,
भंवरा राजी सदा फूल मे, बुलबुल देख चमन मे,
मै तो राजी हूं राम भजन मे भजन मे मै तो राजी हूं।।

पुअर नार अकेली राजी चतुर नार सखियन में रामा
चतुर पुरुष तो तभी है राजी-२, बैठ आन सत्संग में
मैं तो राजी हूं राम भजन में भजन मे मै तो राजी हूं।।

हंसा तो समंद में राजी, शेर वगैडहा वन में रामा,
दाता राजी दान करण में, पूंजी राजी धन में,
मैं तो राजी हूं राम भजन में मैं तो राजी हूं।।

कायर चाहे बचाना जिंदगी, सूरा राजी वन में रामा,
टीकम राम और परमानंद जी, रहते सदा लग्न में,
मै तो राजी हूं राम भजन में मै तो राजी हूं।।

करलो कीर्तन भजलो राम

करलो कीर्तन भजलो राम,
भजले मुख से प्यारे नाम,
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम जय जय राम ।।

मन में जाली है ज्योति कभी बुझे ना प्रेम की ज्योति,
सच्चे मन से जो भी पुकारे मनसा पूरी होती।।

मनका मनका फेर बराबर दो अक्षर का प्यारा नाम,
मनका मनका फेर बराबर दो अक्षर का प्यारा नाम,
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम जय जय राम।।

हाथ पकड़ कर चलते प्यारे संग संग रहते राम तुम्हारे
राम की नगरी राम बिसारे रोम रोम में राम तुम्हारे
छोड़ दे प्यारे डोरी उस पर राम बनाते बिगड़े काम
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम जय जय राम।।

सुख सागर है राम का दरिया
खेवट नाम है जीवन नैया
मर्यादा में आन है बसिया
राम नचाये नाचे है दुनिया
देख तू सज्जन राम का बनकर
देख तू सज्जन राम का बनकर
लागे न तेरा कोई भी दाम
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम।।

तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
तेरे अंदर मेरे अंदर बैठे है सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम,
सिया राम सिया राम सिया राम जय जय राम।।

बलिहारी बलिहारी बोलो दशरथ नंदन लाल की

चिंता करे बलाये हमारी बस माया जंजाल की,
बलिहारी बलिहारी बोलो दशरथ नंदन लाल की,
चिंता करे बलाये हमारी बस माया जंजाल की।।

जिस मालिक ने जनम दिया है अन्ना वस्त्र भी देवेगा,
सर ढकने को छत भी देगा खबर भी ले लेगा,
भजन करो निर्भय हो छोड़ो चिंता, रोटी दाल की,
भजन करो निर्भय हो चिंता, छोड़ो रोटी दाल की,
बलिहारी बलिहारी बोलो दशरथ नंदन लाल की।।

भजन करो निर्भय हो छोड़ो चिंता रोटी दाल की,
बलिहारी बलिहारी बोलो दशरथ नंदन लाल की।।

होगा भाग्य से मिलेगा चाहे घर में हो बाहर हो,
भाग्य बिना कोई भोग ना पावे तीली हो या नाहर हो,
शांत रहो हर हाल में तुम और शरण रहो गोपाल की,
बलिहारी बलिहारी बोलो दशरथ नंदन लाल की।।

भिक्षु यति कहे इस काया तुम ममता का त्याग करो,
एक दिन जलकर राख बनेगी कभी ना इसमें राग करो,
गोरी हो या काली हो पर चादर है खाल की,
बलिहारी बलिहारी बोलो दशरथ नंदन लाल की।।

Chinta Kare Balaye Hamari Bus Maya Janjaal Ki
Balihaari Balihaari Bolo Dashrath Nandan Laal Ki
chinta Kare Balaye Humari Bus Maya Janjaal Ki

चिंता करे बलाये हमारी बस माया जंजाल की,
बलिहारी बलिहारी बोलो दशरथ नंदन लाल की,
चिंता करे बलाये हमारी बस माया जंजाल की।।

पाँव अपना प्रभुजी धुला लीजिये

बात छोटी है सर को हिला दीजिये
पाँव अपना प्रभुजी धुला लीजिये।।

हम है अनपढ़ कोई भूल हो ही गयी
आप मालिक है सब कुछ भुला दीजिये
बात छोटी है सर को हिला दीजिये ।।

बात छोटी है सर को हिला दीजिये
पाँव अपना प्रभुजी धुला लीजिये।।

गैर मल्लाह आएगा हरगिज नहीं
नाम लेकर हाँ नाम लेकर किसी को बुला लीजिये
नाम लेकर किसी को बुला लीजिये
बात छोटी है सर को हिला दीजिये ।।

चाह दोनों की है देर किस बात की
शीघ्र ही शीघ्र ही कुछ फैसला कीजिये
बात छोटी है सर को हिला दीजिये ।।

बात छोटी है सर को हिला दीजिये
पाँव अपना प्रभुजी धुला लीजिये।।

Baat Chhoti Hai Sir Ko Hila Deejiye
Paav Apna Prabhuji Dhula Leejiye

राम की मर्जी के आगे

होई है वही जो राम रचि रखा ,
को कर तरक बढ़ावै साखा।।

राम की मर्जी के आगे ,
राम का दम भर के देख ,
सब तमाशे कर चुका है ,
ये तमाशा कर के देख ।।

राम गर तेरा है तो ,
तेरी है सारी कायनात ,
सब को अपना कर ने वाले ,
उसको अपना कर के देख।।

हो गया वही जो राम जी को भाए गा
तेरा जोर न कही पे चल पाएगा।।

तूने सुख में तो उसे कभी याद ना किया
कभी दिल उसके नाम से आवाद ना किया
दुःख आएगा तो याद साथ लाएगा
तेरा जोर ना कही पे चल पाएगा।।

माँग उससे तू जाके जो ना देके पछताए
तेरे भरदे भण्डारे किसी ना बताए
बंदा देगा तो हजारों को सुनाएगा
तेरा जोर ना कही चल पाएगा।।

तेरा जीवन सवर जाएगा
राम कहने से तर जाएगा
श्री राम जय राम जय जय राम
जय जय राम जय जय राम।।

ये मकान सुना सुना लागे राम के बिना

ये मकान सुना सुना लागे राम के बिना
राम के बिना हनुमान के बिना
ये मकान सुना सुना लागे राम के बिना।।

पतंग उड़ता है आकाश में रहे डोर तुम्हारे हाथ में
हम रहते है मगर दिल है तुम्हारे हाथ में।।

गुरु बिना है चेला सुना चेला बिना गुरुजी सुना
दोनो सुने सुने लागे ज्ञान के बिना
ये मकान सुना सुना लागे राम के बिना।।

पति बिना है पत्नी सुनी पत्नि बिना पति है सुना
दोनो सुने सुने लागे प्रेम के बिना
ये मकान सुना सुना लागे राम के बिना।।

ये मकान सुना सुना लागे राम के बिना
राम के बिना हनुमान के बिना
ये मकान सुना सुना लागे राम के बिना।।

भर लायी गगरिया राम रस की

भर लायी गगरिया राम रस की,
राम रस की रे हरि के रस की
भर लायी गगरिया राम रस की,
राम रस की रे हरि के रस की।।

ब्रह्मा ने पी ली विष्णु ने पी ली,
भोले बाबा ने पी ली लगाय चुस्की,
भर लायी गगरिया राम रस की,
राम रस की रे हरि के रस की।।

राम जी ने पी ली लक्ष्मण ने पी ली,
भक्त हनुमत ने पी ली लगाय चुस्की
भर लायी गगरिया राम रस की,
राम रस की रे हरि के रस की।।

साधुओं ने पी ली संतों ने पी ली,
मुनि नारद ने पी ली लगाय चुस्की,
भर लायी गगरिया राम रस की,
राम रस की रे हरि के रस की।।

गोपियों ने पी ली सखियों ने पी ली,
सभी भक्तों ने पी ली लगाय चुस्की,
भर लायी गगरिया राम रस की,
राम रस की रे हरि के रस की।।

Ram Bhajan Lyrics

This Post Has One Comment

  1. Pingback: आये है मेरे रघुनाथ आये है मेरे रघुनाथ – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply