ram ram bol vela hoya satsang da prem vali gali vicho koi koi langda

राम राम बोल बेला होया सत्संग दा
प्रेम वाली गली विचो कोई कोई लांगदा
भागा वाला लांगदा नसीबा वाला
मेरे जेहा पापी उथो लांगदा वी संग्दा

राम जी दा मन्दिर होवे राम उसदे अन्दर होवे
सीता राम सीता राम मन विच वसदा
राम राम……….

श्याम जी दा मन्दिर होवे श्याम उसदे अन्दर होवे
राधे श्याम राधे श्याम मन विच वसदा
राम राम………

शिवा जी दा मन्दिर होवे शिव जी उसदे अन्दर होवे
गौरा ते गणेश मेरे मन विच वसदा
राम राम……..

Leave a Reply