rooh gd gd ho gai hai datiye darshan karke tere

रूह गद गद हो गई है दातियाँ दर्शन करके तेरे,
तेरे गान दे चानन वे किते दूर दिला को हनेरे,
रूह गद गद हो गई है दातियाँ दर्शन करके तेरे,

मन मोहनी सूरत है तेरी ओह मेरे दिलदारा,
जो तेरे चरना दी सैयां देवे स्वर्ग नजारा,
मेरी रूह रानी ने ले ले नाल एह्दे फेरे,
रूह गद गद हो गई है दातियाँ दर्शन करके तेरे,

मेरे खाव्ब ख्याल च नहीं सी मैनु मिल जो माहि सोहना,
मेरे दिल दी तख्ती ते बैठा बनके आज परोना ,
शहनाइयां भज उठियाँ नि ऑडियो आवन आ जद वेहड़े,
रूह गद गद हो गई है दातियाँ दर्शन करके तेरे,

तनु कमली रमली नु एहने बिन वेखे अपनाया,
एह जग तो सोहना है नि ऑडियो पल्हार मैं पाया,
मेरी बांह न छोड़ी जी दातिया लड़ लग गी मैं तेरे,
रूह गद गद हो गई है दातियाँ दर्शन करके तेरे,

कर मेहर उतार ना तेरे नाम दी एह फुलवाड़ी,
तेरे चरना च बीते लाडी दी जिंदगी हूँ सारी,
तेरी सेवा वस् जावे हूँ ता रोम रोम विच मेरे,
रूह गद गद हो गई है दातियाँ दर्शन करके तेरे,

Leave a Reply