roop hai tera behisaab shyam parda karo

रूप है तेरा बेहिसाब श्याम पर्दा करो,
और उस पर ये शबाब श्याम पर्दा करो,

कुंदन तुम आ गए हो न बाबा के थेर पे,
कहते न ये जय श्री श्याम अब तो जपने लगे,

मतलब छुपा हुआ है यहाँ हर सवाल में,
सँवारे को मिलने तुम भी आज आने लगे,
रूप है तेरा बेहिसाब श्याम पर्दा करो

Leave a Reply