sadke main jawaa vaari main jaawa

सदके मैं जावाँ वारी मैं जावा,
गणपति जी नु जद जद वेखा.
हथ मैं जोड़ा ते शीश झुकावा,
गणपति जी नु जद जद वेखा,

दिल दे अन्दर वास है तेरा,
अखियाँ विच बी रहंदे हो,
नाम ही चलदे नाल ही फिरदे,
नाल ही उठदे बेह्न्दे हो,
फेर मैं इकला क्यों अख्वावा,
गणपति जी नु जद जद वेखा,

जिस पासे भी नजर घुमावा,
हो जांदा ऐ दर्शन तेरा
रंग रूप सुर ताल दे विच भी,
तेनु वेखे मन मेरा,
रज रज तेरियां सिफ्ता गावा,
गणपति जी नु जद जद वेखा,

लगन लगा के सहनु अपनी दूर कदे वी करियो न,
जीवन दी नईयां ने नही ता डूब जाना ऐ तरना न,
रब अपने दे मैं दर्शन पावा,
गणपति जी नु जद जद वेखा,

Leave a Reply