sai sabka palnhaar sare jag ka hai rakhvala tere pap rog kat jayege

साई सबका पालनहारा सरे जग का है रखवाला,
तेरे पाप रोग कट जायेगे साई है अमृत की धरा,
साई सबका पालनहारा सरे जग का है रखवाला,

ध्यान दया के सागर है वो सीधी राह बताते,
जो भी दुखियाँ दर पे आता अपने गले लगाते,
मांग मांग कर भगत थके वो देता कभी न हारा,
साई सबका पालनहारा सरे जग का है रखवाला,

साई भजन के करने से सब ईशा होगी पूरी,
वो विश्वाश में रहते है रख शरधा और सबुरी,
साई राम के चरण पकड़ क्यों फिरता मारा मारा,
साई सबका पालनहारा सरे जग का है रखवाला,

साई धाम है गुरु धाम वैकुण्ठ धाम से ऊंचा,
उसकी नजर में सब है बराबर ना ऊंचा न निचा,
गुरु चरण की धूल है नागर सतगुरु लगे प्यारा,
साई सबका पालनहारा सरे जग का है रखवाला,

Leave a Reply