sanwara doda aayega jab jab dil se shyam ko tu aawaj lagyega

जब जब दिल से श्याम को तू आवाज लगायेगा,
साँवरा दौड़ा आएगा,
कोई आये या ना आये ये रुक ना पायेगा,
साँवरा दौड़ा आएगा

तू न सोच के दूर है वो,
तुझपे नजर वो रखता है,
तेरी तड़प का ध्यान उसे बस वो धीर परख ता है,
ये श्याम तेरा अपना ही तो है,
जीवन की हर ऊजलां को ये खुद सुलझाएगा,
साँवरा दौड़ा आएगा..

बन कर साथी साथ चले जीवन की हर राहो में,
गिरने से पहले आकर थामे गा बाहो में,
इक वार भुला कर देख इसे,
ये कदम कदम पे तुझको विपदा से बचाएगा,
साँवरा दौड़ा आएगा

जग ये करे अपमान तो क्या हस कर वो भी सेह लेना,
आएंगे जब श्याम प्रभु उनसे तू सब कह देना,
दुनिया से तू कुछ उम्मीद ना कर,
जग से तू आस लगा कर जब ठोकर खाये गा,
साँवरा दौड़ा आएगा

माधव इतना मांग ले तू कायम लाज का ताज रहे,
जग रूठे परवाह नहीं तू मेरा हमराज रहे,
ये श्याम मेरा अपना ही तो है,
खुद तुझसे दूर कन्हैया कैसे रह पायेगा,
साँवरा दौड़ा आएगा

कृष्ण भजन

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply