shiv raatri di aai sohni raat ki bam bam bhole bolde rahiye

शिव रात्रि दी आई सोहनी रात
की बम बम भोले बोलदे रहिये,
बैठे शिव गुण गाउंदे ,
तेरे भक्त ने प्यारे,
गूंज्दे शिव दे जयकारे दिन रात,
की बम बम भोले बोलदे रहिये,

केलाश वासी भोले ने आज,
मंदिरा दे विच औना,
करके भोले दर्शन तेरा,
जीवन सफल बनाउना,
बम बम भोले सब तो प्यारा,
बोलदे रहिये,
शिव रात्रि दी आई सोहनी रात
की बम बम भोले बोलदे रहिये,

नाम तेरे विच सब है रंगी,
कायेनात एह सारी,
भोले दे भगता नु चढ़ गई,
शिवाये नाम खुमारी,
चलदे फिरदे बम बम भोले,
बोलदे रहिये,
शिव रात्रि दी आई सोहनी रात
की बम बम भोले बोलदे रहिये,

छड के सारी दुनियादारी,
भोले रंग विच रंग जा,
मोह माया नु त्याग के बंदे,
सेवक इसदा बन जा,
छड के झूठे बंधन भोले,
बोलदे रहिये,
शिव रात्रि दी आई सोहनी रात
की बम बम भोले बोलदे रहिये,

Leave a Reply