shukar kara main guru ji tuhada shukar kara

तुहाडा शुक्र करा मैं गुरु जी तुहाडा शुक्र करा ,
तुसा लगाइया तोड़ निभाइयाँ मैं शुकर करा,
तुहाडा शुक्र करा मैं गुरु जी तुहाडा शुक्र करा ,

दरबार भुलाया शुक्र करा ,
चरना विच लाया शुक्र करा ,
दोशा नु भुलाया शुक्र करा,
आपे आपनाया शुक्र करा ,
हंकार मिटाया शुक्र करा
धीरज उपजाया शुक्र करा,
दे के न जताया शुक्र करा
सहनु पार लगाया ……

दिन रात बहुतेरा शुक्र करा ,
पल पल मैं तेरा शुक्र करा ,
जब हॉवे हनेरा शुक्र करा ,
जब हॉवे सवेरा शुक्र करा ,
सुख दुःख सब तेरा शुक्र करा ,
कुझ भी नही मेरा शुक्र करा ,
कं कं विच तेरा शुक्र करा ,
दिसदा ऐ बसेरा,

कहंदे ने सवाली शुक्र करा ,
रुतबा तेरा आली शुक्र करा ,
दुनिया दा वाली शुक्र करा,
तेरी शान निराली शुक्र करा,
मोड़े न खाली शुक्र करा ,
करदा लज पाली शुक्र करा,
वंडदे खुशहाली शुक्र करा ,
दुभ्दे नु संबाली,

दुखियां दा सहारा शुक्र करा
सुखियाँ नु बी प्यारा शुक्र करा ,
जद जद दिल हारा शुक्र करा ,
तेनु ही पुकारा शुक्र करा ,
संसार ऐ सारा शुक्र करा
दिल जान वे हारा शुक्र करा ,
डुगरी दा नजारा शुक्र करा
स्वर्गा तो भी प्यारा……..

संगत दे कारज आप खलोया,
हर कम करावन आया राम,
संगता दे कारज आप ख्लोया,

सतिगुरु सुख दाई शुक्र करा
किती सुनवाई शुक्र करा ,
तुसा दे न लाई शुक्र करा
हर पीड मुकाई शुक्र करा ,
किस्मत चमकाई शुक्र करा ,
औकात बनाई शुक्र करा ,
झोली विच पाई……

हर आस अधूरी शुक्र करा ,
किती एक पूरी शुक्र करा ,
श्रधा ते सबुरी शुक्र करा ,
देना ऐ जरुरी शुक्र करा
रखदा नही दुरी शुक्र करा ,
कटदा मज़बूरी शुक्र करा
हर वक्त हजुरी शुक्र करा
किती मंजूरी ………

मंगेया सो पाया शुक्र करा
लारा नही लाया शुक्र करा ,
बदियाँ तो बचाया शुक्र करा
नेली वल लाया शुक्र करा
सन्मान वधाया शुक्र करा
रज रज के रजाया शुक्र करा ,
समज ना पराया शुक्र करा ,
हर वचन निभाया………

चंगेया नु मिलिया शुक्र करा,
मेहनत दा खवाया शुक्र करा ,
विश्वाश जगाया शुक्र करा
धन धन तेरी माया शुक्र करा .
हर कम बनाया शुक्र करा ,
झुकना भी सिखाया शुक्र करा
असका नु मिटाया शुक्र करा
निवे फल पाया….

Leave a Reply