shyam na chede na chede nhi ta ho jaaye gi jang

नैन मिलाले मिला ले राधा तू मेरे संग
श्याम ना छेड़े ना छेड़े नही ता हो जाए गी जंग

जोड़ी तेरी मेरी हित से आजा मेरे साथ में,
तू काला और मैं गोरी दम न तेरी बात में
दिल का साफ़ सु ना काला देखे न रंग
श्याम ना छेड़े ना छेड़े नही ता हो जाए गी जंग

आदत आ छीना करता माखन की चोरी तू
माखन ने छोड़ तू राधे मेरी कमजोरी तू
सब की मटकी फोड़े तेरा ना अच्छा ढंग
श्याम ना छेड़े ना छेड़े नही ता हो जाए गी जंग

राधे तू हां जो करदे बाते करू मैया से
मैं बरसाने की छोरी व्याह न करू छलिया से
चेतन हाना करी राधे यु ये करू तंग
श्याम ना छेड़े ना छेड़े नही ता हो जाए गी जंग

Leave a Reply