sumir le sai sai bnde sache mn se dhyan lga le

अपना इरादा नेक है सब का मालिक एक है

सुमिर ले साई साई बंदे सच्चे मन से ध्यान लगा,
बिगड़ी तेरी बात बने गी,
शिरडी तू इक बार तो आ,
सुमिर ले साई साई बंदे सच्चे मन से ध्यान लगा,

संकट तुझपे आये जब भी साई नाम ध्याले,
साई नाम ध्या के इस जीवन से मुक्ति पा ले,
साई है तेरा पालनहारा साई मनवा गा ले,
सुमिर ले साई साई बंदे सच्चे मन से ध्यान लगा,

आते जाते सोते उठ ते साई नाम जपा कर,
रखले इस पूंजी को तू लोगो से बचा बचा कर,
जीवन में सुख पाना है तो,
साई को तू मना ले रे,
सुमिर ले साई साई बंदे सच्चे मन से ध्यान लगा,

राह बड़ी मुश्किल है साई को पायेगा कैसे,
जन्म जन्म मरण के इस बंधन से छूटे गा तू कैसे,
साई है तेरे भाग्ये विधयता साई का ध्यान लगा ले,
सुमिर ले साई साई बंदे सच्चे मन से ध्यान लगा,

This Post Has One Comment

  1. Pingback: sumir le sai sai bnde sache mn se dhyan lga le – tineb.org/blogger

Leave a Reply