sun sanwariya meri baat jra har baar main khatu aau kabhi tu bhi ghar mere aa

सुन सांवरिया मेरी बात ज़रा
हर बार मैं खाटू आऊं कभी तू भी घर मेरे आ
तेरे इंतज़ार मैं कब तक जीवन काटूंगा
जिस दिन घर आओगे सांवरिया
गली में लड्डू बाटूंगा

फूलों से घर को सजवाऊंगा
इत्र की खुशबू से महकाऊँगा
बाघे का केसरिया रंग मैं छाटूँगा
जिस दिन घर आओगे सांवरिया
गली में लड्डू बाटूंगा

दिल का ये अरमान जान लो
एक बात बस मेरी मान लो
बाकी बात तेरी कोई ना काटूंगा
जिस दिन घर आओगे सांवरिया
गली में लड्डू बाटूंगा

घर में तेरा कीर्तन करवाऊं
दूर दूर से भगत बुलाऊँ
ना गाये बहादुर सुर में तो उसको डाटूंगा
जिस दिन घर आओगे सांवरिया
गली में लड्डू बाटूंगा

This Post Has One Comment

  1. Pingback: dhadkane ye meri baba amanaat hai aapki zindgai ka tofa mujhko aap se mila – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply