Tere dwar khada bhagwan bhagat bhar de re jholi Lyrics-तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली

भजन :- तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली

song :- Tere dwar khada bhagwaan Bhagat bhar de re jhaoli
स्वर :- पं. श्री हरि जी महाराज

तेरे द्वार खड़ा भगवान,
भक्त भर दे रे झोली,
तेरा होगा बड़ा एहसान,
के युग युग तेरी रहेगी शान,
भगत भर दे ……..

डोल उठी है सारी धरती देख रे,
डोला गगन है सारा ,
भीख मांगने आया तेरे घर,
जगत का पालनहारा,
मैं आज तेरा मेहमान,
कर के रे मुझ से जरा पहचान,
भगत भर दे …..

आज लुटा दे रे सर्वस अपना,
मान ले रे कहना मेरा ,
मिट जायेगा पल में तेरा,
जनम जनम का फेरा रे ,
तू छोड़ सकल अभिमान,
अमर कर ले रे तू अपना दान,
भगत भर दे……

तेरे द्वार खड़ा भगवान,
भक्त भर दे रे झोली,
तेरा होगा बड़ा एहसान,
के युग युग तेरी रहेगी शान,
भगत भर दे …..

Leave a Reply