tere hi bharose yara mera chal raha gujaara

तेरे ही भरोसे यारा मेरा चल रहा गुजारा,
एह श्याम मुरली वाले आज रे दिल पुकारा,
तेरे ही भरोसे यारा मेरा चल रहा गुजारा…..

सहारा यु ही कोई बनता नहीं बिन सहारे कोई सवरता नहीं,
मिला साथ जो तुम्हारा हो तू जो बन गया हमारा,
जादू तेरा इशारा मेरा बन गया सितारा,
एह श्याम मुरली वाले आज रे दिल पुकारा,
तेरे ही भरोसे यारा मेरा चल रहा गुजारा…..

बिन तुम्हरे बांसुरी बजे कैसे प्रेम की प्यास है भुजे कैसे,
मथुरा हो या गोकुल चाहे द्वारिका विराजो,
तुझे तेरा धाम प्यारा मुझे तेरा नाम प्यारा,
एह श्याम मुरली वाले आज रे दिल पुकारा,
तेरे ही भरोसे यारा मेरा चल रहा गुजारा…..

झूठी है दुनिया सच तेरी माया है,
आदमी परदेशी दो चार दिन को आया है,
धन माल की ये डेरी मेरी ज़िंदगी न मेरी,
लेहरी ये सब नजारा कोई खेल है तुम्हरा,
एह श्याम मुरली वाले आज रे दिल पुकारा,
तेरे ही भरोसे यारा मेरा चल रहा गुजारा…..

Leave a Reply