tere naam ka karm hai ye saara

तेरे नाम का कर्म है ये सारा भगतो पे छाया है सरूर शेरावालिये,

तेरे रूप का है इक लश्कारा जग में है जितना भी नूर शेरावालिये,

सुर गुफा में बैठे बैठे रोज करिश्मे करती है तू,
मेहरा वाली एक नजर से सब के दुखड़े हरती है तू,
खाली झोली जो लाता उसकी झोली भर्ती है तू,
तेरे नाम का कर्म है ये सारा भगतो पे छाया है सरूर शेरावालिये,

इस द्वारे की सुल लगा कर पापी पावन हो जाते है,

Leave a Reply