tere wait me bethe sab shiv shmabhu chilam hum maar ke

ईशा करके आये भोले पूरी कर छपड़ पाड़ के
तेरी वेट में बैठे सब शिव शम्भू चिलम हम मार के

इक सुथरी सी बनो लागे जो चाले घुंगट डाल के,
मेरे मात पिता के पैर दबावे खेत में से आन के,
छोटी बढ़ाया की कदर करे हॉवे मुँह पे शर्म मेरी नार के,
तेरी वेट में बैठे सब शिव शम्भू चिलम हम मार के

सुन बोले तने हरियाणे में म्हारी बेल जाना पड़े गा,
महारे गांव का तिरलोकी तने गेड़ा लाना पड़े गा,
ऐसी भर के चिलम पिलाऊ कर दे लाक्जा थार के,
तेरी वेट में बैठे सब शिव शम्भू चिलम हम मार के

मिल जुल के सारे रहा करते वही टाइम फिर लया दे ने,
सोनू गौरव पूरियां का तू कहां पुगा दे ने,
भरदे कलम में रंग भक्ति का लिखू भजन तेरे प्यार के,
तेरी वेट में बैठे सब शिव शम्भू चिलम हम मार के

This Post Has 2 Comments

  1. Pingback: ek diya sai ke naam ka roj ghar me jalaaya karo – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  2. Pingback: mere shyam ke dar der hai andher nhi hai deta hai sabko shyam kisi se vair nhi hai – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply