teri main diwani hoi paunahariyan teri main diwani hoi

तेरी मैं दीवानी होइ पौनहारियाँ तेरी मैं दीवानी होइ,
देख के रूप निराला जोगी दा सुध भुध अपनी खोई,
तेरी मैं दीवानी होइ पौनहारियाँ तेरी मैं दीवानी होइ,

नाम तेरे दी मस्ती चढ़ गई भूल गई खाना पीना,
जेहड़े रंग विच रखे जोगियां उसे रंग विच जीना,
जिथे देखा तू ही दिसदा होर न दिसदा कोई,
तेरी मैं दीवानी होइ पौनहारियाँ तेरी मैं दीवानी होइ,

हाथ विच चिमटा मोड़े झोली पैरा विच खड़ावा,
मन न मोहंदा रूप तेरा दिल करदा देखि जावा,
ऐसी पाई खींच तुम्बे नु दर ते आन खलोई,
तेरी मैं दीवानी होइ पौनहारियाँ तेरी मैं दीवानी होइ,

चोला तेरे नाम दा पाके मैं जोगन बन जावा,
उठदी बेहंदी जाग दी सोहन्दी तेरा नाम ध्यावा,
शिव जंडोली अरजा करदा राजन रोब्बी अरजा करदा दे चरना विच धोई,
तेरी मैं दीवानी होइ पौनहारियाँ तेरी मैं दीवानी होइ,

Leave a Reply