teri mitti ute hona e vichona mehla vich son valeya

तेरी मिटटी उते होना ऐ विछोना,
मेहला विच सों वालेया,
टूट जिन्दगी दा जाना ऐ खिडोना,
खेडा कई खिडाउन वालेया,
तेरी मिटटी उते होना ऐ विछोना,

थके नाल अपनियाँ तू मनाई जांदा ऐ,
उंगला ते सारी दुनिया नचाई जांदा ऐ,
एहना उंगला ने लांबू तेनु लौना,
था था अगा लाऊंन वालियां
तेरी मिटटी उते होना ऐ विछोना,

झखड तूफाना विच दीवे नहियो जगदे,
ओ बेड़ियाँ दे तारु कदे पार नहियो लगदे,
हो जा इक जा जे बेडा बने लौना,
कुराहे बेड़ी पाऊंन वालिये
तेरी मिटटी उते होना ऐ विछोना,

इक इक करके जहां खाली होना ऐ,
मिलिया कराये दा मकान खाली होना ऐ,
आ के मालका ने कुंडा खडकाया,
मालक कहाऊं वालेया,
तेरी मिटटी उते होना ऐ विछोना,

तू नि ठेकेदार यारा किसे दे नसीबा दा,
जिहने तेनु दिता ओहियो मालिक गरीबा दा,
सिख परदा किसे दे उते पौना,
दे के गिनाउन वालेया,
तेरी मिटटी उते होना ऐ विछोना,

आखरी पोड़ी दा डंडा हाथो छुट जाएगा,
कोमल जन्धरी हंकार टूट जाएगा,
फिर मुड नही बंदे दी जून औना,
मौत नु भुलाऊं वालेया,
तेरी मिटटी उते होना ऐ विछोना,

Leave a Reply