Top 10 Durga mata bhajan lyrics

Top 10 Durga mata bhajan lyrics

Top 10 Durga mata bhajan lyrics

बारिशों की छम छम में तेरे दर पे आए है।

.

बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।

बिजली कड़क रही है, हम थम के आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।।

कोई बूढी माँ के संग आया, कोई तनहा हुआ तैयार,
कोई आया भक्तो की टोली में, कोई पूरा परिवार,
सबकी आँखे देख रही, कब पहुंचे तेरे द्वार,
सबकी आँखे देख रही, कब पहुंचे तेरा द्वार,
छोटे छोटे बच्चो को, संग लेकर आए है,
बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।।

काली घनघोर घटाओ से, जम जम कर बरसे पानी,
आगे बढ़ते ही जाना है, भक्तो ने यही है ठानी,
सबकी आस यही है, की मिल जाए तेरा प्यार,
भीगी भीगी पलकों पर, सपने सजाए है,
बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।।

तेरे ऊँचे भवन पे माँ अम्बे, रहते है लगे मेले,
मीठा फल वो ही पाते है, जो तकलीफे झेले,
दुःख पाकर ही, सुख मिलता है,
भक्ति का ये सार, मैया तेरे दरश के,
दिवाने आए है,
बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।।

रिम झिम ये बरस रहा पानी, अमृत के लगे समान,
इस अमृत में भीगे पापी, तो बन जाए इंसान,
कर दे मैया रानी कर दे, हमपे भी उपकार,
हमने भी जयकारे, जम जम के लगाए है,

बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।।

बारिशों की छम छम में, तेरे दर पे आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।
बिजली कड़क रही है, हम थम के आए है,
मेहरावाली मेहरा कर दे, झोलियाँ सबकी भर दे।।

मैया रानी जो आने का वादा करो

.

मैया रानी जो आने का वादा करो,
मै यूँहीं रोज कुटिया सजाता रहूं,
अपनी पलकों से चुन चुन के कांटे सभी,
तेरी राहो में कलियाँ बिछाता रहूं,
मैया रानी जो आने का वादा करो,
मै यूँहीं रोज कुटिया सजाता रहूं।।

कितना सुन्दर लगे मेरी माँ का भवन,
स्वर्ग में भी तो ऐसा नजारा नहीं,
माँ की खातिर में सारा जगत छोड़ दूँ,
इसके चरणों से उठना गवारा नहीं,
माँ अगर मेरी नजरो के आगे रहे,
मन के मंदिर में इसको बसाता रहूं,
अपनी पलकों से चुन चुन के कांटे सभी,
तेरी राहो में कलियाँ बिछाता रहूं,
मैया रानी जो आने का वादा करो,
मै यूँहीं रोज कुटिया सजाता रहूं।।

अपने भक्तो पे ममता लुटाती है जो,
माँ तुम्ही तो वो ममता की तस्वीर हो,
माँ बनाती हो बिगड़ा मुक्कदर तुम्ही,
और तुम्ही अपने भक्तो की तक़दीर हो,
तुम यूँही मुझपे ममता लुटाती रहो,
अपना तन मन में तुम पर लुटाता रहूं,
अपनी पलकों से चुन चुन के कांटे सभी,
तेरी राहो में कलियाँ बिछाता रहूं,
मैया रानी जो आने का वादा करो,
मै यूँहीं रोज कुटिया सजाता रहूं।।

आदिशक्ति है तू मेरी भक्ति है तू,
मैं हूँ पापी अगर करुणाकारी है तू,
शिव की अर्धांगिनी है महामाई तू,
रानी महारानी आदिकुमारी है तू,
मन ये चाहे मेरा तेरे दरबार में,
बस भजन तेरे दिन रेन गाता रहूं,
अपनी पलकों से चुन चुन के कांटे सभी,
तेरी राहो में कलियाँ बिछाता रहूं,
मैया रानी जो आने का वादा करो,
मै यूँहीं रोज कुटिया सजाता रहूं।।

मैया रानी जो आने का वादा करो,
मै यूँहीं रोज कुटिया सजाता रहूं,
अपनी पलकों से चुन चुन के कांटे सभी,
तेरी राहो में कलियाँ बिछाता रहूं,
मैया रानी जो आने का वादा करो,
मै यूँहीं रोज कुटिया सजाता रहूं।।

मेरी मैया शेरोवाली है करे भक्तो की रखवाली

.

मेरी मैया शेरोवाली है,
करे भक्तो की रखवाली है,
सब भक्तो मिलकर जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

श्लोक – नाम जो अम्बे रानी का,
मन से प्राणी गाएगा,
उसका बेडा भव सागर से,
पल भर में तर जाएगा,
लाज रखती है भक्तो की,
बिन मांगे ही सब पाएगा,
और सच्चे मन ऐ ‘लख्खा’,
जो जयजयकार बुलाएगा।

मेरी मैया शेरोवाली है,
करे भक्तो की रखवाली है,
सब भक्तो मिलकर जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

माँ सर्व मंगला काली है,
नवदुर्गा खप्पर वाली है,
खप्पर वाली की जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

ममता मई ममता लुटाती है,
भक्तो की बिगड़ी बनाती है,
ममता मई माँ की जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

जो सच्चे मन से ध्याता है,
मुँह माँगा वर वो पाता है,
सच्चे दरबार की जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

जो शरण में माँ की आया है,
वो झोली भर कर लाया है,
फिर सच्चे मन से जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

ताराचंद महिमा गाता है,
‘लख्खा’ भी शीश झुकाता है,
एक बार जरा तो जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

मेरी मैया शेरोवाली है,
करे भक्तो की रखवाली है,
सब भक्तो मिलकर जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

शेरावाली की जय बोलो,
मेहरावाली की जय बोलो,
अम्बेरानी की जय बोलो,
वैष्णोरानी की जय बोलो,
जोतावाली की जय बोलो,
पहाड़ावाली की जय बोलो,
शेरावाली की जय बोलो।।

https://youtube.com/watch?v=qhOffP9I-QM%3Ffeature%3Doembed

तेरे दर पे माँ जिंदगी मिल गई है

.

तेरे दर पे माँ, जिंदगी मिल गई है,
मुझे दुनिया भर की, ख़ुशी मिल गई है,
तेरे दर पे माँ, जिंदगी मिल गई है।।

जमाने से जो ना मिला, तुमसे पाया,
भटकता हुआ जब मै, तेरे दर पे आया,
जो दिल में थी हसरत, वही मिल गई है,
तेरे दर पे मॉ, जिंदगी मिल गई है।।

दुखो का शिकंजा, कसा जा रहा था,
अंधेरो में जीवन, फसा जा रहा था,
यही राह फिर से, सही मिल गई है,
तेरे दर पे मॉ, जिंदगी मिल गई है।।

ये चर्चे है तीनो, जहाँ में तुम्हारे,
अगर कोई दर पे, झोली पसारे,
कहो चीज क्या जो, नहीं मिल गई है,
तेरे दर पे मॉ, जिंदगी मिल गई है।।

तेरे दर पे मॉ, जिंदगी मिल गई है,
मुझे दुनिया भर की, ख़ुशी मिल गई है,
तेरे दर पे मॉ, जिंदगी मिल गई है।।

सारी दुनिया छोड़ के आया तेरे द्वार

.

सारी दुनिया छोड़ के,
आया तेरे द्वार माँ,
आया तेरे द्वार माँ,
कर मेरा उद्धार माँ,
जग की पालन हार माँ,
मेरी ओर निहार माँ,
सारी दुनिया छोड़ के,
आया तेरे द्वार माँ।।

मन मेरा चाहे माता,
करूँ तेरी नौकरी,
दिल मेरा चाहे मैया,
करूँ तेरी नौकरी,
तेरे चरणों में लगे,
रात दिन हाजरी,
रखलो सेवादार माँ,
रहूँगा ताबेदार माँ,
ना कर सोच विचार माँ,
ना देना पगार माँ,
सारी दुनिया छौड़ के,
आया तेरे द्वार माँ।।

जीवन की डोर कर दी,
तेरे हवाले,
जीवन की डोर कर दी,
तेरे हवाले,
मै हूँ कठपुतली जैसे,
मर्जी नचाले,
अटका हूँ मजधार माँ,
आ बन जा पतवार माँ,
कर दे बेडा पार माँ,
तू सच्ची सरकार माँ,
सारी दुनिया छौड़ के,
आया तेरे द्वार माँ।।

मन मंदिर सुना है,
ये कर ले बसेरा,
मेरा मन मंदिर सुना है,
ये कर ले बसेरा,
गन्दा हूँ मंदा हूँ,
पर हूँ मैं ‘लख्खा’ तेरा,
दोनों हाथ पसार माँ,
‘लख्खा’ करे पुकार माँ,
‘सरल’ पे कर उपकार माँ,
किस्मतें सवार माँ,
सारी दुनिया छौड़ के,
आया तेरे द्वार माँ।।

सारी दुनिया छोड़ के,
आया तेरे द्वार माँ,
आया तेरे द्वार माँ,
कर मेरा उद्धार माँ,
जग की पालन हार माँ,
मेरी ओर निहार माँ,
सारी दुनिया छोड़ के,
आया तेरे द्वार माँ।

झूठी दुनिया से मन को हटाले ध्यान मैया जी के चरणों में लगाले

.

झूठी दुनिया से मन को हटाले,
ध्यान मैया जी के चरणों में लगाले,
नसीबा तेरा जाग जाएगा,
नसीबा तेरा जाग जाएगा।।

सच्चा है दरबार यहाँ माँ अम्बे का,
मिलता है प्यार यहाँ जगदम्बे का।।

झूठे संसार का तो चलन अनोखा है,
पग पग मिले यहाँ धोखा ही धोखा है,
पग पग मिले यहाँ धोखा ही धोखा है,
मान जाएगी तू मैया को मनाले,
ज्योत माँ की तू प्रेम से जगा ले,
नसीबा तेरा जाग जाएगा,
नसीबा तेरा जाग जाएगा।।

सच्चा है दरबार यहाँ माँ अम्बे का,
मिलता है प्यार यहाँ जगदम्बे का।।

माल तेरे पास है तो माल तेरा खायेंगे,
हुआ जो ख़तम तो नजर नही आयेंगे,
हुआ जो ख़तम तो नजर नही आयेंगे,
महामाई को तू अपना बना ले,
प्यार माँ का अनूठा है तू पाले,
नसीबा तेरा जाग जाएगा,
नसीबा तेरा जाग जाएगा।।

सच्चा है दरबार यहाँ माँ अम्बे का,
मिलता है प्यार यहाँ जगदम्बे का।।

शेरावाली मैया मेरी ममता की खान है,
भक्तो को प्यार देती बड़ी ही महान है,
भक्तो को प्यार देती बड़ी ही महान है,
हाथ इनका तू सर पे धरा ले,
काम फिर चाहे कुछ भी करा ले,
नसीबा तेरा जाग जाएगा,
नसीबा तेरा जाग जाएगा।।

सच्चा है दरबार यहाँ माँ अम्बे का,
मिलता है प्यार यहाँ जगदम्बे का।।

‘श्यामसुन्दर’ मैया तेरे चरणों का दीवाना है,
सारा जग झूठा सच्चा तेरा माँ ठिकाना है,
सारा जग झूठा सच्चा तेरा माँ ठिकाना है,
मातृदत लो चरणों में लगा ले,
‘लख्खा’ बिगड़ी हुई को बनाले,
नसीबा तेरा जाग जाएगा,
नसीबा तेरा जाग जाएगा।।

सच्चा है दरबार यहाँ माँ अम्बे का,
मिलता है प्यार यहाँ जगदम्बे का।।

झूठी दुनिया से मन को हटाले,
ध्यान मैया जी के चरणों में लगाले,
नसीबा तेरा जाग जाएगा,
नसीबा तेरा जाग जाएगा।।

सच्चा है दरबार यहाँ माँ अम्बे का,
मिलता है प्यार यहाँ जगदम्बे का।

तेरे द्वार पे आया माँ मेरी आज झोलियाँ भर दे
.

तेरे द्वार पे आया माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे,
मेरी आज झोलियाँ भर दे, तेरा ध्यान लगाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे, तेरे द्वार पे आया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।

तेरे खातिर मेने मैया, जग से नाता तोड़ा,
नाम सुना जब तेरा दयालु, आया दौड़ा दौड़ा,
मैने जोग जगाया माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे।।

तू चाहे तो पल में कर दे, मेरे वारे न्यारे,
दिव्य शक्ति से भरे हुए है, तेरे सब भंडारे,
मेने शीश झुकाया माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे।।

तीन लोक में फेल रहा है, तेरा नाम भवानी,
वेद पुराण बखान कर रहे, तेरी आज कहानी,
मेने शीश झुकाया माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे।।

चेतन रूप तुम्हारा मैया, चेतन तेरी ज्वाला,
ज्योत से ज्योत मिला दे मैया, हो जाए उजियाला,
‘चेतन’ दास कहाया माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे।।

तेरे द्वार पे आया माँ, मेरी आज झोलियाँ भर दे,
मेरी आज झोलियाँ भर दे, तेरा ध्यान लगाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे, तेरे द्वार पे आया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।

https://youtube.com/watch?v=2QKhjhYFjWM%3Ffeature%3Doembed

मेहंदी रे मेहंदी इतना बता दे कौन सा काम किया है

.

मेहंदी रे मेहंदी इतना बता दे, कौन सा काम किया है,
मेहंदी रे मेहंदी इतना बता दे, कौन सा काम किया है,
मैया ने खुश होकर तुझको, हाथो में थाम लिया है,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना।।

तेरी किस्मत बहुत बड़ी है, मैया ने अपनाया,
मैया तुमसे प्यार करे क्यूँ, कोई जान ना पाया।
तेरी किस्मत बहुत बड़ी है, मैया ने अपनाया,
मैया तुमसे प्यार करे क्यूँ, कोई जान ना पाया,
मैया की किरपा होने से, मैया की किरपा होने से,
दुनिया में नाम किया है,
मैया ने खुश होकर तुझको, हाथो में थाम लिया है,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना।।

लाल चुनरिया लाल ही चुड़ा, लाल रोली का टीका,
लेकिन मैने देखा माँ का, हाथ था फीका फीका।
लाल चुनरिया लाल ही चुड़ा, लाल रोली का टीका,
लेकिन मैने देखा माँ का, हाथ था फीका फीका,
इन फीके फीके हाथों को, इन फीके फीके हाथों को,
मैने लाल किया है,
इसीलिए मैया ने मुझको, अपना मान लिया है,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना।।

सबको अपनाया मेरी मैया, हमको भी अपना लो,
हमको अपना लाल समझकर, अपनी गोद बिठा लो,
सबको अपनाया मेरी मैया, हमको भी अपना लो,
हमको अपना लाल समझकर, अपनी गोद बिठा लो,
‘बनवारी’ ये भेद अनोखा,
‘बनवारी’ ये भेद अनोखा, मेने जान लिया है,
मैया अपनाएगी उसको, जो माँ को लाल किया है,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना।।

मेहंदी रे मेहंदी इतना बता दे, कौन सा काम किया है,
मेहंदी रे मेहंदी इतना बता दे, कौन सा काम किया है,
मैया ने खुश होकर तुझको, हाथो में थाम लिया है,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना,
मेहंदी बोलो ना, मेहंदी बोलो ना।।

https://youtube.com/watch?v=lmUWdt-e6FE%3Ffeature%3Doembed

मैया का जादू है सर चढ़कर बोलेगा

.

मैया का जादू है, सर चढ़कर बोलेगा।।
भगत तू ना जइयो, ना जइयो, मैया वैष्णो के द्वार,
वहां पर बैठी है बैठी है, हम सबकी पालनहार,
तू बन के बावरा कटरा की, गलियों में घूमेगा,
मैया का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा।।

जिसको आएगा बुलावा, वो ही जा पाएगा,
उसको जाने से भला, कोन रोक पाएगा,
जिसकी याद आए माँ को, उसे ही बुलाती है,
झोलियाँ खुशियों से, उसकी भर जाती है,
सच्ची है लगन तो संदेसा, तेरे नाम आएगा,
मैया का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा।।

माँ के दर्शन को, जो यहां आते है,
भूलकर सारी दुनिया, माँ के बन जाते है,
सारे रिश्तो से बढ़कर, रिश्ता बन जाता है,
माँ के दर्शन से ही, पाप कट जाता है,
दरबार की ऐसी शोभा है, तू वही रम जाएगा,
मैया का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा।।

माँ के मुखड़े पे, लट ये घुंघराली,
ऐसे बिखरी जैसे, घटा हो काली,
उठे जो पलके, भोर हो जाती,
झुके जो पलके, रात ढल जाती,
ममतामई चेहरा माँ का, तू कश्मीर में देखेगा,
मैया का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा।।

भगत तू ना जइयो, ना जइयो, मैया वैष्णो के द्वार,
वहां पर बैठी है बैठी है, हम सबकी पालनहार,
तू बन के बावरा कटरा की, गलियों में घूमेगा,
मैया का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा।।

मैया का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा,
तुलजा का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा,
माँ वैष्णो का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा,
मैया का जादू हैं, सर चढ़कर बोलेगा।।

https://youtube.com/watch?v=duJVHXTMlQk%3Ffeature%3Doembed

थारो धाम से प्यारो कोई धाम नही है दूजो

.

थारो धाम से प्यारो, कोई धाम नही है दूजो,
माजीसा रा परचा भारी जग में,
थारो धाम से प्यारो, कोई धाम नही है दूजो,
भटियाणी माजीसा, जसोल री धनियारी,
मै आया थारे द्वार, माजीसा दर्शन दे दीजो।।

माजीसा म्हारी थारे, दुखिया आवे,
दुखियारा थे तो दुखड़ा मिटावो,
सोनी के गयो ऐ माजीसा म्हारी ऐ,
थारे हाथा सु चढ़ाउ, चांदी रो छत्र लाया ऐ,
भटियाणी माजीसा, जसोल री धनियारी,
मै आया थारे द्वार, माजीसा दर्शन दे दीजो।।

भक्ता पर थे तो, राखो छाया,
सगळा भक्ता रे थे मनडे भाया,
सगळा भक्ता रे थे मनडे भाया,
जोधाने गयो ऐ माजीसा म्हारी ए,
थाने हाथा सु ओढाउ,
माजीसा रे चुनर लाया ऐ,
भटियाणी माजीसा, जसोल री धनियारी,
मै आया थारे द्वार, माजीसा दर्शन दे दीजो।।

थारो धाम से प्यारो, कोई धाम नही है दूजो,
माजीसा रा परचा भारी जग में,
थारो धाम से प्यारो, कोई धाम नही है दूजो,
भटियाणी माजीसा, जसोल री धनियारी,
मै आया थारे द्वार, माजीसा दर्शन दे दीजो।।

https://youtube.com/watch?v=agKas3q6AxM%3Ffeature%3Doembed

fb

Leave a Reply