tore charn kamal par balihaari

तोरे चरण कमल पर बलिहारी,
गणपति चरण कमल पर बलिहारी,
लेत बलाइयां गोरा मियां मस्तक चूमे त्रिपुरारी,
तोरे चरण कमल पर बलिहारी,

देवो के सरताज कहावो पहली पूजा तुम ही पावो,
महिमा गणपत की भारी,
तोरे चरण कमल पर बलिहारी,

इक दंत चार भुजा तुम्हारी,
मूसे की करते हो सवारी ,
शोभा गणपत की भारी,
तोरे चरण कमल पर बलिहारी,

धुप दीप नए वेद चढ़ावे,
लड्डुवन का तुम्हे भोग लगावे,
हर्षित मन सब नर नारी,
तोरे चरण कमल पर बलिहारी,

रणजीत राजा गणपति को मनावे,
रिद्धि सीधी वर तुमसे पावे,
शंकर सूत पर बलहारी,
तोरे चरण कमल पर बलिहारी,

Leave a Reply