tu karle khatu aana jana

मेरी सुन लो रे बिनती
तेरी बन जाए बिगड़ी
तू करले खाटू आना जाना

श्यामस अहारा हारे का ये जाने दुनिया साड़ी
जिसका खिवैया कोई रहा ना उसकी नाव है तारी
श्याम ने उसको थाम लिया है जिसने हिम्मत हारी
ऊँचा नीचे कोई ना सबको मिलता यहाँ ठिकाना
तेरी बन जाए बिगड़ी …………

वो सेठों का सेठ है प्यारे सब झोली फैलाते
बड़े बड़े राजा भी उनके चरणों में गिर जाते
श्याम धनी सांवरिया देखो सबके भाग्य जगाते
अजनबी दास को अपना बनाया जीवन है महकाया
तेरी बन जाए बिगड़ी ……….

तेरी लाचारी का चर्चा महफ़िल महफ़िल होगा
इस दुनिया के आगे रोकर कुछ ना हासिल होगा
रोबिन हालत पर हंस देंगे और दुखी दिल होगा
बुरे समय में हो जाता है हर कोई बेगाना
तेरी बन जाए बिगड़ी ……….

Leave a Reply