tu meera ka hai ya radha ka hai kiska tu shyam jyaada hai

तू मीरा का है या राधा का है किसका तू श्याम ज़्यादा है
हैं हम भी तो प्रेमी दरश के दीवाने कहो क्या इरादा है
तू मीरा का है ………………

मीरा को दुनिया ने पागल कहा है
कैसी दीवानी ज़हर भी पिया है
अरे कान्हा ओ कान्हा अब तो आजा
कान्हा रे कान्हा रे आजा रे आजा रे
है हमको यकीन मेरे श्याम की मोहब्बत का ये कायदा है
हैं हम भी तो प्रेमी दरश के दीवाने कहो क्या इरादा है
तू मीरा का है ………………

राधा के दिल की करी तूने चोरी
पनघट पे आके करे ज़ोरा जोरी
अरे कान्हा ओ कान्हा अब तो आजा
कान्हा रे कान्हा रे आजा रे आजा रे
सेह लूँगा मैं सारे सितम गर तू करे वादा है
हैं हम भी तो प्रेमी दरश के दीवाने कहो क्या इरादा है
तू मीरा का है ………………

Leave a Reply