tumse hai baba har khushi apni

तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,
तूने सजा है ज़िंदगी अपनी,
तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,

तेरे पास आये तो गम से दूर हो गये,
मजबूर थे हम श्याम मशहूर हो गये,
तूने मिटा दी है बेबसी अपनी,
तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,

ज़माने से है जुदा श्याम तेरी माया,
बस मेरे गुणो को तूने है दिखाया तूने छुपा दी है हर कमी मेरी,
तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,

तुमसे ही प्रीत है तुम्से ही याराना,
इस लिए तो है प्रभु दर पे आना जाना,
तूही तो है प्यारे आशिक़ी अपनी,
तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,

सोनू ने कभी न की कोई फ़रमाईशे,
फिर भी तूने पुरे की मेरी हर ख्वाइशये,
क्यों तू समझता है ख़ामोशी अपनी,
तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,

Leave a Reply